Home » इंटरनेशनल » Iran attacks two Iraqi bases housing US force after death of General Qasem Soleimani in US drone attack
 

ईरान ने इराक में अमेरिकी सैन्य बेस पर किया हमला, दर्जनभर से ज्यादा मिसाइलें दागी

कैच ब्यूरो | Updated on: 8 January 2020, 9:12 IST

Iran Attacks at US Military Base : अमेरिका (America) के ड्रोन हमले (Drone Attack) में मारे गए ईरान (Iran) के जनरल कासिम सुलेमानी (General Qasem Soleimani) की मौत के बाद दोनों देशों के बीच तनाव बना हुआ है. ईरान ने इराक में स्थित अमेरिकी सैन्य बेस (American Military Base) पर मिसाइल से हमला (Missile Attack) बोल दिया है. ईरान ने बुधवार को इराक में अमेरिका के अल-असद एयरबेस (Al-Asad Air Base) पर कई रॉकेट दागे हैं. पेंटागन ने बताया है कि ईरान ने एयरबेस पर एक दर्जन से अधिक मिसाइलें दागी हैं.

बता दें कि इस एयरबेस पर अमेरिका के साथ गठबंधन सेनाएं भी तैनात हैं. हालांकि अभी तक अमेरिका और गठबंधन सेनाओं को इस हमले से किसी भी प्रकार के नुकसान की खबर नहीं है. हालांकि अमेरिका ने मामले को गंभीरता से लेते हुए अपनी नागरिक उड़ानों को खाड़ी के साथ इराक और ईरान में प्रतिबंधित कर दिया है.


बताया जा रहा है कि ईरान ने अबरिल और अल असद सैन्य बेस पर मिसाइलों से हमला बोला है. ये मिसाइलें सतह से सतह पर मार करती हैं. इस हमले के बाद ईरान ने अमेरिका और अमेरिकी सैनिक को जवाबी कार्रवाई न करने की चेतावनी भी दी है. अमेरिका ने इस बात की पुष्टि की है कि ईरान की ओर से मिसाइलों के जरिए सैनिकों के ट्रेनिंग बेस पर हमला किया गया है. ईरान के एक टीवी चैनल के मुताबिक, ईरान ने जनरल कासिम सुलेमानी की मौत का बदला लेने के लिए ये कदम उठाया है.

ईरान के इस हमले को लेकर राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार के साथ बैठक की है. अमेरिकी रक्षा अधिकारी के मुताबिक, लगभग साढ़े पांच बजे इराक में अमेरिकी और गठबंधन सेनाओं के ठिकानों पर एक दर्ज से ज्यादा मिसाइलों से हमला किया गया. पेंटागन ने एक बयान जारी कर कहा है कि वह हमले में हुए नुकसान का आकलन कर रहा है. 

अमेरिकी रक्षा सचिव के सहायक जोनाथन हॉफमैन का कहना है कि सात जनवरी की शाम 5.30 बजे (ईएसटी) ईरान ने इराक में अमेरिकी सेना और गठबंधन बलों पर एक दर्जन से ज्यादा बैलिस्टिक मिसाइलों से हमला किया. हॉफमैन ने कहा कि, यह स्पष्ट है कि ये मिसाइलें ईरान ने लॉन्च की थीं और कम से कम दो इराकी सैन्य बेसों अल-असद और इरबिल को निशाना बनाया जहां अमेरिकी सेना और गठबंधन सेना ठहरी है.

बता दें कि इससे पहले ही ये आशंका जताई जा रही थी कि ईरान जनरल सुलेमानी की मौत का बदला लेने के लिए आक्रामक कदम उठा सकता है. बीते शुक्रवार को अमेरिकी ड्रोन हमले में ईरान के सेना प्रमुख जनरल कासिम सुलेमानी मारे गए थे. सुलेमानी की मौत के बाद दोनों देशों के बीच तनाव चरम पर पहुंच गया. ईरान की धमकी के बाद अमेरिका भी पीछे हटने को तैयार नहीं है.

पाकिस्तानी एयरफोर्स का विमान क्रैश, फ्लाइंग ऑफिसर और स्क्वॉड्रन लीडर की मौत

जनरल कासिम सुलेमानी को अंतिम विदाई देने के दौरान मची भगदड़, कई लोगों की मौत

मेजर जनरल सुलेमानी की हत्या पर ईरान सख्त, डोनाल्ड ट्रंप के सिर पर रखा 8 करोड़ डॉलर का इनाम

First published: 8 January 2020, 9:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी