Home » इंटरनेशनल » iran nuclear scientist hang till death
 

ईरान ने अपने परमाणु वैज्ञानिक को जासूसी के आरोप में दी फांसी

कैच ब्यूरो | Updated on: 8 August 2016, 11:32 IST
(एजेंसी)

ईरान ने अपने परमाणु वैज्ञानिक शाहराम अमीरी को जासूसी के आरोप में फांसी दे दी है. अमीरी की मां ने उनकी फांसी की पुष्टि करते हुए कहा, "सरकार ने मेरे बेटे के शव को अंतिम संस्कार के लिए सौंप दिया है."

अमीरी साल 2009 में देश छोड़कर अमेरिका चले गए थे और एक साल बाद रहस्यमय हालात में ईरान वापस आए थे.

अधिकारियों ने कहा कि पहली बार उन्होंने अमीरी को गुपचुप तरीके से हिरासत में रखा, उस पर मुकदमा चलाया और उसे सजा दी.

शहराम अमीरी साल 2009 में सऊदी अरब में मुस्लिम धर्मस्थलों के तीर्थाटन के दौरान गायब हो गए थे. वह एक साल बाद ऑनलाइन वीडियो में दिखे जिसे अमेरिका में फिल्माया गया था.

वह वाशिंगटन में पाकिस्तान दूतावास में ईरान संबंधों को देखने वाले विभाग में पहुंचे और फिर स्वदेश भेजे जाने की मांग की. तेहरान लौटने पर उनका नायक की तरह स्वागत हुआ था.

अमीरी का कहना था कि अमेरिका में सीआईए ने उन्हें ज़बर्दस्ती हिरासत में लिया था, जबकि अमेरिकी अधिकारियों ने कहा था कि ईरान के विवादास्पद परमाणु कार्यक्रम को समझने में उनकी मदद के एवज में उन्हें लाखों डॉलर मिलने वाले थे. उसे उसी हफ्ते फांसी दी गई.

इससे एक साल पहले तेहरान आर्थिक प्रतिबंध हटाए जाने के एवज में अपने यूरेनियम संवर्धन को सीमित करने संबंधी ऐतिहासिक समझौते पर राजी हुआ था.

ईरानी न्यायपालिका के प्रवक्ता घोलम हुसैन मोहसेनी एजेही ने बताया कि अमीरी को जासूसी के आरोप में दोषी ठहराया गया, क्योंकि उसने देश की महत्वपूर्ण सूचना दुश्मन को मुहैया कराई.

एजेही ने कहा कि अमीरी की गोपनीय सूचना तक पहुंच थी और वह हमारे दुश्मन नंबर एक के संपर्क में था.

First published: 8 August 2016, 11:32 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी