Home » इंटरनेशनल » Iraq court sentences death penalty for16 turkish women to joining isis
 

ISIS में शामिल होने के आरोप में तुर्की की 16 महिलाओं को मिली मौत की सजा

कैच ब्यूरो | Updated on: 26 February 2018, 17:50 IST

इस्लामिक स्टेट की 16 महिला आतंकवादियों को मौत की सजा सुनाई गई है. ये सजा इराक की एक अदालत ने सुनाई है. ये सभी महिलाएं तुर्किश हैं. बता दें कि एक न्यायिक प्रवक्ता के मुताबिक इन महिलाओं को आतंकी समूह इस्लामिक स्टेट (ISIS) को ज्वाइन करने के आरोप में ये सजा सुनाई गई है.

बता दें कि इराक में सैकड़ों विदेशी महिलाओं और उनके सैकड़ों बच्चों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है. द गार्जियन अखबार के मुताबिक, आतंकी समूह आईएस से जुड़ने और उन्हें समर्थन करने को लेकर उनसे पूछताछ की जा रही है.

ये भी पढ़ें- सोहराबुद्दीन मामला : CBI की जांच पर सवाल उठाने वाली जज को बॉम्बे हाईकोर्ट ने बदला

बताया जा रहा है कि केंद्रीय आपराधिक न्यायालय ने उन महिलाओं का अपराध साबित हो जाने के बाद उन्हें मौत की सजा सुनाई है. पूछताछ में पता चला कि ये महिलाएं आतंकी समूह से संबंध रखती थीं और उनके सदस्यों को आतंकी हमलों को अंजाम देन के लिए जरुरी सहायता और सामान मुहैया कराती थीं.

जस्टिस अब्दुल सत्तार के मुताबिक सभी फैसले को लेकर अपील की जा सकती है. जस्टिस सत्तार बताते हैं कि हजारों विदेशियों ने इराक और सीरिया में 2014 से लेकर अबतक आईएस की तरफ से लड़ाई लड़ी है. इनमें से बहुत सी विदेशी महिलाओं को आतंकी समूह में शामिल होने के लिए समुद्रपार से लाया गया था.

बता दें कि इराक सरकार के द्वारा जिहादी समूह को उत्तर इराक के ताल अफार से बाहर निकाले जाने की घोषणा करने के बाद ही 1,300 से अधिक महिलाओं और बच्चों ने अगस्त में कुर्दिश सेना के सामने आत्मसमर्पण कर दिया था.अधिकारियों के अनुसार, अब विदेशियों के आत्मसमर्पण की संख्या 1,700 तक पहुंच गई है।

इससे पहले दिसंबर में इराक ने ISIS के ऊपर जीत की घोषणा की थी. जिसने 2014 में एक तिहाई क्षेत्र पर काबू पा लिया था.

First published: 26 February 2018, 17:23 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी