Home » इंटरनेशनल » IS militant kills his mother
 

आईएस के आतंकी ने मां को मार डाला

आशीष कुमार पाण्डेय | Updated on: 10 January 2016, 8:56 IST
QUICK PILL
  • अली सक्र की मां लीना ने उसे आईएस छोड़ने को कहा था. अली सक्र ने यह बात अपने आतंकी साथियों को बताई. जिसके बाद आईएस के आतंकियों ने उन्हें मौत के घाट उतार दिया.
  • लीना ने अपने बेटे अली सक्र से कहा था कि अमेरिकी नेतृत्व वाला सैन्य गठबंधन आईएस को तबाह कर देगा.

आईएस के एक आतंकी ने शुक्रवार को सीरिया में अपनी मां को ही मार डाला. 21 साल के आतंकी अली सक्र ने अपनी मां लीना को इसलिए मार डाला क्योंकि उन्होंने उसे आईएस से दूर रहने को कहा  था.   

घटना नूर सीरिया में इस्लामिक स्टेट के कब्जे वाले रक्का में घटी है. जिसकी जानकारी ब्रिटेन में मौजूद सीरियन ऑब्ज़र्वेटरी फ़ॉर ह्यूमन राइट्स और रक़्क़ा इज बीईंग स्लॉटर्ड सायलेंटली संगठन के कार्यकर्ताओं ने दी.

इस्लामिक स्टेट के सदस्यों ने बताया कि सक्र की मां लीना आईएस छोड़ने को कह रही थी. अली सक्र ने यह बात आईएस के अपने आतंकी साथियों को बताई. जिसके बाद आतंकियों ने उसकी मां को गिरफ्तार कर लिया और मौत की सजा सुनाई.

महिला के बेटे सक्र ने सरेआम उसकी हत्या उस पोस्टऑफिस के सामने कर दी, जिसमें वह काम करती थीं. सूत्रों की मानें तो लीना ने अपने बेटे से कहा था कि अमेरिकी नेतृत्व वाला सैन्य गठबंधन आईएस को तबाह कर देगा और उसे उससे पहले उन्हें यह शहर छोड़ देना चाहिये. 

आईएस दक्षिण एशिया में भी अपने पैर फैलाने की जुगत में लगा हुआ है. लेकिन इस क्षेत्र में उसे करारा झटका लगा है.

आईएस की क्रूरता को देखते हुए दक्षिण एशिया के तमाम आतंकी संगठनों ने उसकी घोर निंदा की है. पाकिस्तान की तहरीक-ए-तालिबान और अफगानिस्तान के तालिबान ने भी आईएस की सरपरस्ती मानने से साफ इंकार कर दिया है.

इसके अलावा हाल ही में  कश्मीर के अलगाववादी संगठन हुर्रियत कांफ्रेंस ने भी आईएस की आलोचना करते हुए उसे दहशतगर्द संगठन कहा है. चरमपंथी संगठन आईएस ने 2014 में इराक और सीरिया के बड़े हिस्सों पर अपना कब्जा जमा लिया था.

First published: 10 January 2016, 8:56 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी