Home » इंटरनेशनल » ISIS fighters raped & stoned to death four women
 

आईएस आतंकियों ने चार महिलाओं की बलात्कार के बाद पत्थर मारकर हत्या की

कैच ब्यूरो | Updated on: 16 February 2016, 19:32 IST

आईएसआईएस के आतंकियों ने पहले चार महिलाओं के साथ बलात्कार किया और उन्हें विवाहेत्तर संबंधों में लिप्त बताकर पत्थर मार-मारकर जान ले ली. 

बताया जाता है कि मोसुल शहर में एक छापेमारी के दौरान आईएसआईएस के लड़ाकों ने इन महिलाओं से बलात्कार किया. जिसके बाद इन चार पीड़ित महिलाओं को गिरफ्तार कर लिया गया. 

इसके बाद इन चार महिलाओं को शरिया अदालत के सामने लाया गया. जहां अदालत ने कथित बलात्कारियों के संबंध में बिना कोई जानकारी दिए इन महिलाओं को सार्वजनिक रूप से कत्ल किए जाने का आदेश जारी कर दिया.

पढ़ेंः साइबर सिक्योरिटी के लिए आईएसआईएस ने बनाई हेल्प डेस्क

स्थानीय सूत्रों के मुताबिक चार महिलाओं को भारी भीड़ के सामने ले जाया गया, जहां उनकी पत्थर मारकर हत्या कर दी गई.

isis-stone-death file photo

फाइल फोटो

सीरियाई प्रेस एजेंसी एआरए न्यूज के मुताबिक, "चार महिलाओं से पहले आईएसआईएस आतंकियों द्वारा शारीरिक शोषण की संभावना के बाद इन्हें घर से बाहर ले जाकर शरिया अदालत में ले जाया गया. स्पष्ट रूप से इन पीड़िताओं का पहले आईएसआईएस जेहादियों द्वारा बलात्कार किया गया और फिर इन पर विवाहेत्तर संबंधों का आरोप लगाकर पत्थर मारकर जान ले ली गई."

निनेवेह मीडिया सेंटर के प्रवक्ता राफत जरारी के मुताबिक बुधवार को आईएसआईएस जेहादियों की छापेमारी के दौरान

चार पीड़िताओं को गिरफ्तार किया गया था. इस बाबत जेहादियों ने दावा किया कि इन महिलाओं को "विवाहेत्तर संबंधों" के चलते पकड़ा गया था.

इस्लामी शरिया कानून में विवाहित पुरुष या स्त्रियों को विवाहेत्तर संबंध होने पर पत्थरों से मारकर जान लेने का प्रावधान है जबकि अविवाहित को कोड़े मारे जाएंगे.

वहीं, पत्थर मारकर जान लेने की परंपरा कथित रूप से इस्लामिक समूहों से प्रभावित देशों मसलन मिडिल ईस्ट, आईएसआईएस नियंत्रित सीरिया और ईराक के क्षेत्र समेत तालिबान आधारित अफगानिस्तान में है. 

पढ़ेंः जेहादी जॉन के बाद अब सामने आया आईएस का नन्हा लड़ाका

First published: 16 February 2016, 19:32 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी