Home » इंटरनेशनल » ISIS murdered 250 Girls for denying to become sex slave
 

सेक्स गुलाम न बनने पर आईएस ने किया 250 लड़कियों का कत्ल

कैच ब्यूरो | Updated on: 22 April 2016, 18:17 IST

आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट (आईएसआईएस) द्वारा सेक्स गुलाम बनने से इनकार किए जाने पर मोसुल में 250 इराकी लड़कियों की निर्ममतापूर्वक हत्या कर दी गई.

लंदन की एक न्यूज एजेंसी से कुर्दिश डेमोक्रैटिक पार्टी के प्रवक्ता मामुजिनी ने कहा कि इन लड़कियों को आईएसआईएस आतंकियों से जबरन अस्थायी निकाह करने के लिए कहा गया और जब उन्होंने सेक्स गुलाम बनने से मना कर दिया तो उन्हें परिवार समेत मार डाला गया.

पढ़ेंः ISIS को तबाह करने के लिए पूर्व सेक्स गुलाम महिलाओं ने फीमेल बटालियन बनाई

मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक आईएस के लड़ाकों के नियंत्रण में इराक के दूसरे सबसे बड़े शहर मोसुल में इन 250 लड़कियों का नरसंहार किया गया.

मामुजिनी ने कहा, "सेक्सुअल जिहाद से इनकार करने पर कम से कम 250 लड़कियों को अब तक आईएस द्वारा मार डाला गया है. कई बार इन लड़कियों के परिवारों को भी इस लिए मार डाला गया क्योंकि उन्होंने अपनी लड़कियों  को सौंपने से मना कर दिया था."

पढ़ेंः बोको हरमः पांच में से एक आत्मघाती हमलावर नाबालिग और तीन चौथाई लड़कियां

पैट्रियॉटिक यूनियन ऑफ कुर्दिस्तान (पीयूके) पार्टी के अधिकारी घायस सुर्ची ने कहा कि आईएस के नियंत्रण वाले इलाकों में मानवाधिकारों का खुलेआम हनन किया जा रहा है. विशेषतौर पर महिला अधिकारों का हनन किया जा रहा है क्योकि उन्हें यह लोग इस्तेमाल किए जाने वाली वस्तु के रूप में देखते हैं और उन्हें अपना जीवनसाथी चुनने का अधिकार नहीं है.

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक बीते साल अगस्त में आईएस आतंकियों का सेक्स गुलाम बनने से मना करने पर 19 महिलाओं का इसी तरह कत्ल कर दिया गया. 

पढ़ेंः ब्रिटेन जितना बड़ा है दुनिया का दुःस्वप्न बन चुका आतंकी राज्य आईएस

गौरतलब है कि इराकी सेना के कमजोर पड़ने पर आईएस ने जून 2014 में मोसुल पर कब्जा कर लिया था. उसके बाद से वे यजीदी महिलाओं और लड़कियों का अपहरण और यौन शोषण कर रहे हैं. 

First published: 22 April 2016, 18:17 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी