Home » इंटरनेशनल » Islamic State top commander Shishani killed in Iraq
 

आईएस का शीर्ष कमांडर उमर अल शिशानी इराक में ढेर

कैच ब्यूरो | Updated on: 14 July 2016, 12:03 IST
(एएफपी)

आतंकी समूह इस्लामिक स्टेट का एक शीर्ष कमांडर उमर अल शिशानी इराक में मारा गया. आईएस से संबद्ध अमाक न्यूज एजेंसी ने यह जानकारी दी. इस्लामिक स्टेट ने भी चेचेन के नाम से कुख्यात अपने संगठन के आतंकवादी उमर अल शिशानी की मौत की पुष्टि कर दी है.

आईएस का समर्थन करने वाली समाचार एजेंसी अमक ने बताया कि शिशानी मोसुल के दक्षिण में स्थित इराक के शिरकत शहर में मारा गया. इससे पहले अमेरिका के रक्षा विभाग पेंटागन ने मार्च में सीरिया में अमेरिकी हवाई हमलों में शिशानी के मारे जाने की आशंका जताई थी. बहरहाल, अमाक का दावा इससे बिल्कुल उलट है.

अमाक ने ‘सेना के एक सूत्र’ का हवाला देते हुए कल कहा कि शिशानी शरकत शहर में मारा गया. अबू उमर अल शिशानी पर अमेरिका ने 50 लाख यूएस डॉलर के इनाम का एलान किया था. उमर की मौत अमेरिकी सेना की एक बड़ी उपलब्धि मानी जा रही है.

इराकी बलों का मोसुल को अपने कब्जे में लेने के लिए अभियान अंतिम चरण में है. पेंटागन ने बताया कि शरकत शहर मोसुल के उत्तर में सड़क के किनारे है, लेकिन इराकी बल हाल ही में कयारा इलाके में स्थित एक प्रमुख सैन्य स्टेशन को दोबारा अपने नियंत्रण में लेने के लिए शरकत को छोड़ कर आगे बढ़ गए.

कयारा शरकत के और आगे उत्तर में है. अमाक ने यह स्पष्ट नहीं किया है कि शिशानी कब मारा गया. लेकिन कमांडर का मारा जाना आतंकी समूह के लिए बड़ा झटका माना जा रहा है. 

शिशानी पूर्व सोवियत राज्य जॉर्जिया के पान्किसी जॉर्ज शहर का रहने वाला था, जहां मूल निवासी चेचेनों की बहुलता है. उसने चेचेन विद्रोही के तौर पर रूसी बलों के खिलाफ हथियार उठाए थे. वर्ष 2006 में वह जॉर्जिया की सेना में शामिल हो गया और 2008 में वह एक बार फिर रूसी बलों के खिलाफ लड़ा.

इसके बाद वह विदेशी लड़ाकों के एक समूह के कमांडर के तौर पर उत्तरी सीरिया में नजर आया और फिर आईएस का एक बड़ा नेता बन गया.

First published: 14 July 2016, 12:03 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी