Home » इंटरनेशनल » It's seems Japanese love dogs more than kids
 

अपने बच्चों की बजाय कुत्ते के बच्चों को ज्यादा तरजीह देते हैं जापानी

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 February 2017, 1:48 IST

जापान में इन दिनों पुरुष और महिलाएं बच्चे पैदा करने की बजाय कुत्ते के बच्चों की परवरिश में ज्यादा रुचि दिखा रहे है.

इसके कारण वहां शिशु जन्मदर लगातार कम होती जा रही है. वहीं दूसरी तरफ कुत्तों के बच्चों की संख्या में अप्रत्याशित तौर पर बढोत्तरी दर्ज की गई है.

एक आधिकारिक आंकड़े के मुताबिक जापान में कुत्तों की जनसंख्या लगभग 2.2 करोड़ है वहीं 15 साल से कम उम्र के बच्चों की संख्या केवल 1.66 करोड़ है.

जापान में शिशु जन्मदर के लगातार गिरने से वहां की जनसंख्या में बुजुर्गों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है. यानी आने वाले समय में संभावना है कि जापान बुढ़े नागरिकों का देश हो जाएगा.

जापान पूरी दुनिया में कुत्तों को पालने और उन्हें लाड़-प्यार करने के लिए विख्यात है. जापान की राजधानी टोक्यो में ज्यादातर जापानी कुत्ते पालने के शौकीन हैं.

टोक्यो विश्व में जनसंख्या घनत्व की दृष्टि से सबसे बड़ा शहर है और यहां रहने वाले लोग छोटे-छोटे अपार्टमेंट में रहते हैं लेकिन फिर भी वो कुत्तों को पालने में विशेष रुचि दिखाते हैं.

इस लिहाज से टोक्यो कुत्तों की देखभाल और रखरखाव का एक बड़ा बाजार भी बनता जा रहा है.

First published: 20 January 2016, 4:52 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी