Home » इंटरनेशनल » Japan's economy declines by 28 percent, biggest shock after World War II
 

जापान की अर्थव्यवस्था में 28 फीसदी की रिकॉर्ड गिरावट, द्वितीय विश्व युद्ध के बाद सबसे बड़ा झटका

कैच ब्यूरो | Updated on: 8 September 2020, 15:12 IST

जापान में मंगलवार को जारी संशोधित सकल घरेलू उत्पाद (GDP) के आंकड़ों के अनुसार देश की जीडीपी में कोरोना वायरस महामारी के कारण 28.1 फीसदी की बड़ी गिरावट दर्ज की गई है. यह दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था के 27.8 फीसदी संकुचन के शुरुआती अनुमान से भी बदतर है. कैबिनेट कार्यालय ने कहा कि सरकार ने 1980 से तुलनीय रिकॉर्ड रखना शुरू किया और यह द्वितीय विश्व युद्ध के बाद से जापान की अर्थव्यवस्था की सबसे बड़ी गिरावट है. जापान की अर्थव्यवस्था में पिछली सबसे बड़ी 17.8 फीसदी की गिरावट वैश्विक वित्तीय संकट के दौरान 2009 की पहली तिमाही में आयी थी.

महामारी ने विशेष रूप से जापान की निर्यात-निर्भर अर्थव्यवस्था (export-reliant economy) को चोट पहुंचाई है, जिससे प्रधानमंत्री शिंजो आबे के उत्तराधिकारी के दबाव का सामना करना पड़ेगा. पिछले महीने आबे ने घोषणा की कि वह अपने बिगड़ते स्वास्थ्य कारणों से इस्तीफा दे रहे हैं. देश का नया प्रधानमंत्री 14 सितंबर को चुना जाएगा.
रॉयटर्स के अनुसार मई में कोरोना महामारी से निपटने के लिए लगाए लॉकडाउन प्रतिबंधों को हटाने के बाद भी जुलाई में उपभोक्ता खर्च और मजदूरी में गिरावट देखी गई.


आंकड़े दिखाते हैं कि जापान विकास गति प्राप्त करने के लिए संघर्ष कर रहा है. अगले प्रधानमंत्री की दौड़ में आगे कैबिनेट सचिव योशीहिदे सुगा (Yoshihide Suga) ने खर्च को बढ़ावा देने की अपनी तत्परता का संकेत दिया है. पिछले हफ्ते भारतीय जारी आकड़ों के अनुसार भारतीय अर्थव्यवस्था ने सबसे बाई गिरावट दर्ज की है. आंकड़ों के अनुसार अप्रैल से जून की तिमाही में जीडीपी में रिकॉर्ड 23.9 फीसदी की गिरावट देखी गई है.

कोरोना वायरस महामारी के बेच विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के प्रमुख टेड्रोस अधनोम ग्रेबेसियस का कहना है कि दुनिया को अगली महामारी के लिए बेहतर तैयार रहना चाहिए. डब्ल्यूएचओ प्रमुख ने दुनिया के देशों को सार्वजनिक स्वास्थ्य में निवेश करने के लिए आह्वान किया. उन्होंने कहा ''यह कोई आखिरी महामारी नहीं नहीं होगी. WHO प्रमुख टेड्रोस से जेनेवा में एक प्रेस ब्रीफिंग में जब पूछा गया कि दुनिया में कोरोना वायरस महामारी से 2.7 करोड़ लोग संक्रमित हुए हैं और 9 लाख लोग मारे गए हैं.

भारत ने नहीं चीनी सैनिकों ने की थी फायरिंग, दुनिया से झूठ बोल रहा चीन- भारतीय सेना

उन्होंने कहा "यह आखिरी महामारी नहीं होगी. इतिहास हमें सिखाता है कि प्रकोप और महामारी जीवन का एक तत्थ्य है. लेकिन जब अगली महामारी आये, तो दुनिया को आज के समय की तुलना में अधिक तैयार रहना है." इससे पहले डब्ल्यूएचओ प्रमुख ने कोविड वैक्सीन राष्ट्रवाद (covid 'vaccine nationalism) के खिलाफ चेतावनी दी थी. उन्होंने दुनिया भर के देशों से कोरोनो वायरस से निपटने के लिए साथ आने का आग्रह किया था.

Gold Price Today : आज गोल्ड सस्ता हुआ या महंगा, जानिए पटना, लखनऊ और दिल्ली के दाम

First published: 8 September 2020, 14:59 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी