Home » इंटरनेशनल » johnson and johnson company lost 7th case, company awarded 780 crore rupees of Compensation customer due to mesothelioma
 

जॉन्सन एंड जॉन्सन कंपनी इस शख्स को देगी 760 करोड़ हर्जाना, जानिए पूरा मामला

कैच ब्यूरो | Updated on: 13 April 2018, 15:58 IST

बेबी केयर मार्केट में दुनिया भर में मशहूर कंपनी जॉन्सन एंड जॉन्सन को 760 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है. कंपनी को यह नुकसान अमेरिकी कोर्ट की वजह से हुआ है. दरअसल कंपनी के उपर न्यूजर्सी के 46 वर्षीय इन्वेस्टमेंट बैंकर स्टीफन लैंजो और उनकी पत्नी केंड्रा ने कंपनी पर आरोप लगाते हुए कहा कि उनके प्रोडक्ट से उन्हें मेसोथेलियोमा हुआ है. कंपनी को120 साल के इतिहास में इस तरह के मामला से सामना करना पड़ रहा है.

दरअसल, न्यूजर्सी के 46 साल के इन्वेस्टमेंट बैंकर स्टीफन लैंजो और उनकी पत्नी केंड्रा ने जॉन्सन एंड जॉन्सन के बेबी पाउडर से मेसोथेलियोमा होने का दावा करते हुए मुआवजा मांगा था. इस संबंध में अमेरिका की निचली अदालत ने कंपनी पर 240 करोड़ का मुआवजा लगाया था. लेकिन अब अमेरिकी कोर्ट ने इस मुआवजे को तीन गुना बढ़ाकर 760 करोड़ रुपये कर दिया.

वहीं इस मुआवजे को 70 फीसद जॉन्सन एंड जॉन्सन और 30 फीसद पाउडर सप्लाय करने वाली कंपनी इमेरीज टैल्क चुकाएगी. कंपनी को अलबामा की एक महिला को ओवरी (गर्भाशय) के कैंसर के मामले में 475 करोड़ का मुआवजा देना पड़ा था. इसके बाद मिसौरी के 5 मामलों में कोर्ट ने 1996 करोड़ का जुर्माना लगाया था.

वहीं लैंजो ने कहा कि कंपनी ने अपने उत्पादों पर किसी भी तरह की बीमारी या खतरा होने की कोई चेतावनी नहीं दी, जबकि कंपनी इस बारे में जानती है. आपकी जानकारी के लिए बता दें कि मेसोथेलियोमा एक तरह का कैंसर है जो टिशू, फेफड़ों, पेट, दिल और अन्य अंगों पर असर डालता है.

ये भी पढ़ें-  पाउडर से गर्भाशय कैंसर: जॉनसन एंड जॉनसन पर 482 करोड़ का जुर्माना

वहीं कंपनी ने अपनी दलील में कहा कि लैंजो जिस घर में रहते हैं उसके बेस्मेंट के पाइप में एसबेस्टस लगा है. कंपनी ने यह भी कहा कि लैंजो ने जिस स्कूल से पढ़ाई की वहां भी एसबेस्टस था, लेकिन अदालत ने कंपनी की कोई दलील न सुनते हुए मुआवजे की रकम 4 गुना बढ़ा दी. गौरतलब है कि 2 साल में कंपनी पर 5,950 करोड़ रुपये का जुर्माना लग चुका है. बता दें कि पिछले दो साल में जॉन्सन एंड जॉन्सन के मामले में 7 बड़े फैसले हुए हैं. इनमें कोर्ट ने कंपनी पर करीब 5,950 करोड़ रुपए का जुर्माना लगाया है, लेकि 2700 करोड़ के एक केस में फैसला कंपनी के पक्ष में रहा.

First published: 13 April 2018, 15:51 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी