Home » इंटरनेशनल » Just before Xi Jinping's visit to India, China changed its statement on Kashmir issue
 

जिनपिंग की भारत यात्रा से ठीक पहले चीन ने कश्मीर पर बदला अपना रंग, दिया ये बयान

कैच ब्यूरो | Updated on: 9 October 2019, 10:11 IST

चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग के भारत और नेपाल दौरे से पहले बीजिंग ने कश्मीर मुद्दे को हल करने के मामले में संयुक्त राष्ट्र की भूमिका को संदर्भ से हटा दिया है. इस यात्रा की आधिकारिक घोषणा बुधवार को होने की उम्मीद है. अब चीन का कहना है कि नई दिल्ली और इस्लामाबाद को सीधी बातचीत से समस्या का समाधान निकालना चाहिए.

द हिंदू की रिपोर्ट के अनुसार पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान और थल सेनाध्यक्ष जनरल क़मर जावेद बाजवा की उपस्थिति में एक सवाल के जवाब में चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता जेंग शुआंग ने कहा “कश्मीर मुद्दे पर चीन की स्थिति लगातार और स्पष्ट है. हम भारत और पाकिस्तान से कश्मीर सहित अन्य मुद्दों पर बातचीत और परामर्श बढ़ाने और आपसी विश्वास को मजबूत करने का आह्वान करते हैं. यह दोनों देशों के हितों और दुनिया की आम आकांक्षाओं के अनुरूप है.”

 

जेंग का बयान भारत द्वारा धारा 370 को रद्द करने के बाद चीन द्वारा अपनाई गई हालिया स्थिति से अलग है. इससे पहले चीन ने संयुक्त राष्ट्र में कश्मीर मुद्दे का अंतर्राष्ट्रीयकरण करने के लिए पाकिस्तान का समर्थन किया था. चीन के विदेश मंत्री वांग यी ने संयुक्त राष्ट्र के अपने संबोधन में कहा था, "कश्मीर मुद्दा बहुत लंबे समय से चला आ रहा विवाद है, शांत, संयुक्त राष्ट्र चार्टर और सुरक्षा परिषद के प्रस्तावों और द्विपक्षीय समझौते के अनुसार इसका समाधान होना चाहिए."

मीडिया ब्रीफिंग के दौरान जेंग ने बताया कि चीन अलग-अलग ट्रैक पर भारत और पाकिस्तान के साथ अपने संबंधों को आगे बढ़ा रहा है. राष्ट्रपति शी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बीच पिछले साल हुए वुहान अनौपचारिक शिखर सम्मेलन का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा "हमारे द्विपक्षीय संबंधों में अच्छी गति आई है और हम अपने सहयोग को आगे बढ़ा रहे हैं और मतभेदों और संवेदनशील मुद्दों पर बात कर रहे हैं."

 अमरीकी राष्ट्रपति ट्रंप ने दी तुर्की को तहस-नहस करने की धमकी, जानिए क्या है पूरा मामला

First published: 9 October 2019, 10:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी