Home » इंटरनेशनल » Key Islamic State recruiter for India killed in US drone strike
 

आईएस में भारतीयों की भर्ती करने वाला आतंकी मारा गया

कैच ब्यूरो | Updated on: 25 April 2016, 15:54 IST
QUICK PILL
  • मोहम्मद शफी अरमर भारत से आईएस के लिए आतंकियों की भर्ती का काम किया करता था. शफी कर्नाटक के भटकल जिले का रहने वाला था. 
  • शफी की मौत सीरिया में अमेरिकी ड्रोन हमले में हुई है. शफी की मौत के बाद आतंकी संगठन आईएस की भारतीय शाखा नेतृत्वविहीन हो गई है.

मोहम्मद शफी अरमर सीरिया में अमेरिकी ड्रोन हमले में मारा जा चुका है. शफी कर्नाटक के भटकल का रहने वाला था और वह आतंकी संगठन आईएस के लिए आतंकियों की भर्ती का काम करता था. 

ऐसा समझा जाता है कि शफी ने आईएस के लिए कम से कम 30 लोगों की भर्ती की थी. हाल ही में एनआईए और आईबी ने देश भर में दबिश देकर आईएस के लिए काम करने के संदेह में 14 लोगों को गिरफ्तार किया था और इसमें से छह लोग कर्नाटक के रहने वाले हैं. 

मोहम्मद शफी अरमर के मारे जाने के बाद आईएस की भारतीय शाखा नेतृत्वविहीन हो गई है

जांच में पता चला कि गिरफ्तार सभी 14 लोग शफी के संपर्क में थे. शफी अंसार उल तवाहिद के लिए काम करता था जो आतंकी संगठन आईएस का सहयोगी संगठन है. शफी से पहले इस संगठन की जिम्मेदारी उसके बड़े भाई सुल्तान अरमार के पास थी. 

पिछले दो सालों के दौरान शफी भारत से आईएस के लिए भर्ती का काम कर रहा था. शफी भर्ती का पूरा काम ऑनलाइन किया करता था. 

सुरक्षा एजेंसियों के मुताबिक 2015 में मध्य प्रदेश और 2016 में नई दिल्ली और ओड़िशा से गिरफ्तार किए गए आरोपियों की भर्ती भी शफी ने ही की थी.

शफी फेसबुक और ट्विटर जैसे सोशल मीडिया की मदद से मुस्लिम युवाओं की तलाश करता था. इसके बाद वह उन्हें प्रभावित कर आईएस में शामिल कराने का काम करता था. 

सुरक्षा एजेंसियों की सतर्कता के बाद शफी ने ऑनलाइन भर्ती का सारा काम किक जैसे एनक्रिप्टेड ऐप्लिकेशन की मदद से करने लगा  था. 

First published: 25 April 2016, 15:54 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी