Home » इंटरनेशनल » Kim Jong-nam was a CIA operative: Repor
 

खुलासा : अमेरिकी खुफिया एजेंसी CIA का एजेंट था किम जोंग-उन का भाई

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 June 2019, 14:12 IST

उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग-उन का सौतेला भाई किम जोंग-नम सेंट्रल इंटेलिजेंस एजेंसी (CIA) का मुखबिर था और वह कई बार एजेंसी के अधिकारियों से भी मिला था. फरवरी 2017 में मलेशिया के कुआलालंपुर अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे पर किम जोंग-नम की हत्या कर दी गई थी. अमेरिका और दक्षिण कोरियाई अधिकारियों ने उत्तर कोरिया पर इस हमले का आरोप लगाया था.

रिपोर्ट के अनुसार किम जोंग-नम के CIA के साथ संबंध के कई विवरण अस्पष्ट हैं. कई पूर्व अमेरिकी अधिकारियों ने कहा कि सौतेला भाई, जो कई वर्षों से उत्तर कोरिया के बाहर रहता था और उसका प्योंगयांग में कोईआधार नहीं था, इसलिए उसके एजेंट होने की बात में दम नहीं है. उन्होंने यह भी कहा कि किम जोंग-नम, जो मुख्य रूप से मकाऊ में रहता थे, रिपोर्ट में कहा गया है कि वह लगभग निश्चित रूप से अन्य देशों, विशेष रूप से चीन की सुरक्षा सेवाओं के संपर्क में था.

 

सीआईए ने इस पर टिप्पणी करने से इनकार कर दिया है. जबकि चीनी अधिकारियों ने टिप्पणी के लिए अनुरोध का जवाब नहीं दिया. कहा गया है कि सीआईए ने किम जोंग-नाम के साथ कई बैठकें आयोजित कीं, जिसमें अमेरिकी खुफिया जानकारी दी गई है कि वह अमेरिकी देश के बारे में जानकारी जुटाएगा.

पूर्व अमेरिकी अधिकारियों और विश्लेषकों के बीच अटकलें लगाई गई थी कि चीन सहित बाहर के देशों ने किम जोंग-नम को किम जोंग-उन के संभावित उत्तराधिकारी के देखा, जिससे उन के शासन को खतरा हो सकता था. किम जोंग-नम के साथ सीआईए के संबंध की खबरें उस वक्त आयी है जब अमेरिका और उत्तर कोरिया के बीच परमाणु कूटनीति हनोई में बातचीत हो रही है.

रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि किम जोंग-नम ने फरवरी 2017 में अपने सीआईए संपर्क से मिलने के लिए मलेशिया की यात्रा की, हालांकि यह यात्रा का एकमात्र उद्देश्य नहीं हो सकता है. मलेशिया ने मई में किम जोंग-नम की हत्या के आरोप में एक वियतनामी महिला, दून थी हुआंग को जेल से रिहा किया था. 

'पीएम मोदी ने मेरे एक फोन कॉल से हार्ले डेविडसन पर 50 % टैक्स कम कर दिया'

First published: 11 June 2019, 14:09 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी