Home » इंटरनेशनल » Landon Bridge Attack: 130 imams refuses to offer prayers for terrorists
 

लंदन हमला: 130 इमामों ने कहा, नहीं पढ़ेंगे आतंकियों के जनाज़े की नमाज़

कैच ब्यूरो | Updated on: 6 June 2017, 13:04 IST

लंदन के 130 इमामों ने बयान जारी करते हुए कहा है कि वे लंदन ब्रिज हमले में मारे गए आतंकवादियों के जनाज़े की नमाज़ नहीं पढ़ाएंगे. सोशल मीडिया पर जारी इस बयान में यह अपील भी की गई है कि अन्य इमाम भी इनके जनाज़े की नमाज़ नहीं पढ़ाएं. बयान में कहा गया है कि यह एक कायरतापूर्ण हमला था और यह इस्लाम के सिद्धांतों के खिलाफ है.

लंदन ब्रिज हमले की निंदा सभी धर्मों के मज़हबी रहनुमाओं ने एक स्वर में की है. इस हमले में 7 लोग मारे गए और 47 घायल हुए थे. शनिवार की शाम किए गए इस हमले में आतंकियों ने फुटपाथ पर वैन चढ़ा दी थी. इसके अलावा बोरो मार्केट के क़रीब बार और रेस्तरां में घुसकर लोगों को चाकू मारा गया था.

पूर्वी लंदन स्थित मस्जिद में इमामों के एक पैनल मुहम्मद हबीबुर्रहमान ने कहा है कि एक बार फिर हमें साथ आने की ज़रूरत है. उनके ख़िलाफ़ खड़े होने की ज़रूरत है, जो हमें बांटने की कोशिश कर रहे हैं. शनिवार शाम किए गए आतंकी हमले के बाद भी वे हमें अलग करने में सफ़ल नहीं होंगे.

पैनल ने कहा है, "जनाज़े की नमाज़ नहीं पढ़ाना आतंक फैलाने वालों के लिए एक साफ़ संदेश है. आतंकी इस्लाम और पैग़ंबर मुहम्मद के मुख्य सिद्धांतों के ख़िलाफ़ काम कर रहे हैं."

First published: 6 June 2017, 11:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी