Home » इंटरनेशनल » London Terror attack: Brussels Nice Berlin and Westminster attacks are quite similar
 

लंदन आतंकी हमले ने ब्रसेल्स, नीस और बर्लिन अटैक की याद दिलाई

कैच ब्यूरो | Updated on: 23 March 2017, 11:09 IST
(एजेंसी)

लंदन आतंकी हमला ब्रसेल्स, नीस और बर्लिन हमले से काफ़ी मिलता-जुलता है. ब्रिटिश संसद के बाहर हुई फायरिंग में पांच लोगों की मौत होने की ख़बर है. लंदन के स्थानीय समय के मुताबिक दोपहर दो बजकर चालीस मिनट पर गोलीबारी की आवाज़ सुनी गई. हमले के वक्त ब्रिटिश सांसदों के अलावा प्रधानमंत्री टेरीज़ा मे भी संसद में मौजूद थीं.

हमलावर ने संसद के क़रीब टेम्स नदी पर बने वेस्टमिंस्टर ब्रिज पर तेज़ी से कार दौड़ा दी. इसके बाद यह कार संसद के बार की रेलिंग से जा भिड़ी. इस हमले ने बेल्जियम के ब्रसेल्स, फ्रांस के नीस और जर्मनी के बर्लिन हमले का मंजर याद दिला दिया. एक नज़र इन आतंकी हमलों पर: 

ब्रसेल्स हमला

एजेंसी

22 मार्च 2016 को ब्रसेल्स में हुए आतंकी हमले में 34 लोग मारे गए थे, जबकि 200 से ज्यादा जख्मी हुए. बेल्जियम की राजधानी ब्रसेल्स के अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे और मेट्रो स्टेशन पर सीरियल बम धमाके हुए. यह हमला पेरिस हमलों के संदिग्ध हमलावर सालाह अब्देसलाम की गिरफ्तारी के चार दिन बाद हुआ. इस्लामिक स्टेट (आईएस) ने इन हमलों की जिम्मेदारी ली थी. एयरपोर्ट के अलावा ब्रसेल्स मेट्रो के एक स्टेशन को भी निशाना बनाया गया था. एयरपोर्ट पर हमला करने वाले दो आत्मघाती हमलावरों की पहचान नाज़िम लाकरावी और ब्राहीम अल बकरावी के रूप में की गई थी.

नीस हमला

एजेंसी

15 जुलाई 2016 को फ्रांस की क्रांति से जुड़े एक अहम दिन 'बस्तील दिवस' पर आतिशबाजी ख़त्म ही हुई थी कि एक ट्रक भीड़ में घुस गया. इस बड़े आतंकी हमले में 84 लोगों की मौत हो गई. आतंकवादी संगठन आईएसआईएस (इस्लामिक स्टेट) ने हमले की जिम्मेदारी ली. ट्रक करीब दो किलोमीटर तक लोगों को कुचलता हुआ नेशनल डे की परेड के दौरान घुस गया. सुरक्षाबलों की जवाबी कार्रवाई में मारे जाने से पहले हमलावर ने पिस्टल से भी फायरिंग की.

इस हमले को इस्लामिक स्टेट के प्रवक्ता मोहम्मद अल अदनानी के 2014 में आए उस ऑडियो संदेश से जोड़कर देखा गया, जिसमें कहा गया था, "अगर आप बम नहीं फोड़ सकते या गोली नहीं चला सकते, तो उन पर अपनी कार चढ़ा दो."

बर्लिन हमला

एजेंसी

20 दिसंबर 2016 को जर्मनी की राजधानी बर्लिन के व्यस्त क्रिसमस बाज़ार में ट्रक सवार ने 12 लोगों को कुचलकर मार दिया था. कट्टरपंथी इस्लामिक आतंकी संगठन आईएसआईएस ने इसकी जिम्मेदारी ली थी.

पकड़ा गया हमलावर शख्स पाकिस्तानी मूल का बताया जा रहा था. ट्रक से एक शव भी बरामद हुआ था, जिसे पोलैंड के शख्स का बताया जा रहा है. हमले में इस्तेमाल ट्रक का रजिस्ट्रेशन पड़ोसी देश पोलैंड का है. पकड़ा गया शख्स फरवरी में जर्मनी आया था और उसने शरण लेने के लिए आवेदन किया था. हालांकि बाद में उसे पूछताछ के बाद छोड़ दिया गया.

First published: 23 March 2017, 11:09 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी