Home » इंटरनेशनल » Massive attack on Afghan Army base Taliban claims responsibility
 

अफगान आर्मी बेस पर तालिबानी आतंकियों ने किया बड़ा हमला, कई लोगों के मारे जाने की आशंका

कैच ब्यूरो | Updated on: 14 May 2020, 15:10 IST

Deadly attack onn Afghan Army Base: अफगानिस्तान (Afghanistan) में बड़ा आतंकी हमला (Massive Terrorist Attack) होने की खबर है. बताया जा रहा है कि ये हमला अफगानिस्तान आर्मी बेस (Afghan Army Base) पर हुआ है. जानकारी के मुताबिक, इस हमले की जिम्मेदारी तालिबान (Taliban) ने ली है. अफगानिस्तान के आंतरिक मंत्रालय (interior ministry) ने इस बारे में जानकारी जारी की है. जिसमें बताया गया है कि तालिबान ने कहा कि उसने अफगान सेना के ठिकाने पर जानलेवा हमला किया.

हमले के बाद तालिबान के प्रवक्ता जबीहुल्लाह मुजाहिद ने मीडिया से एक व्हाट्सएप संदेश में कहा, "आक्रामक की घोषणा के बाद काबुल प्रशासन के एक महत्वपूर्ण सैन्य मुख्यालय पर शहादत का एक हमला किया गया है"


अफगानिस्तान के आंतरिक मंत्रालय की ओर से जारी एक बयान में पूर्वी शहर गार्डेज़ में हमले की पुष्टि की बात कही गई है. तालिबान ने कहा है कि आक्रामक घोषणा के बाद काबुल प्रशासन के एक महत्वपूर्ण सैन्य मुख्यालय को निशाना बनाया गया है. तालिबान ने कहा है कि पूर्वी अफगान शहर में बम विस्फोटकों से भरे एक ट्रक ने गुरुवार को पूर्वी अफगान शहर गार्डेज़ में हमला किया. जिसमें कम से कम पांच लोगों के मारे जाने की खबर है. बता दें कि अफगानि आर्मी बेस पर यह हमलादो दिन बाद हुआ है जब देश में अन्य जगहों पर हुए हमलों में कम से कम 56 लोग मारे गए है.

WHO के एग्जिक्युटिव डायरेक्टर का चौंकाने वाला बयान, बोले- हो सकता है दुनिया से कभी न जाए कोरोना

जिनमें कई महिलाएं और नवजात बच्चे भी शामिल थे. अफगानिस्तान के आंतरिक मंत्रालय के प्रवक्ता तारिक एरियन ने कहा कि शहर में एक सैन्य कोर्ट के पास एक कार बम विस्फोट हुआ है. जो एक आबादी वाला क्षेत्र है. दर्जनों नागरिकों के मारे जाने और घायल होने की आशंका है. इस हमले के बाद तालिबान प्रवक्ता जबीहुल्लाह मुजाहिद ने एक बयान में कहा कि विद्रोही समूह हमले के लिए जिम्मेदार था. यह हमला विस्फोटक से भरे एक ट्रक द्वारा किया गया था. मुजाहिद का कहना है कि इस विस्फोट में पांच लोग मारे गए और 14 घायल हुए हैं. एरियन ने आतंकवादी हक्कानी नेटवर्क को दोषी ठहराया.

COVID-19: दुनियाभर में अब तक दो लाख 98 हजार से ज्यादा लोगों की मौत, 44 लाख से अधिक संक्रमित

जिसके तालिबान विद्रोहियों और पाकिस्तान स्थित लश्कर-ए-तैयबा आतंकवादी समूह से संबंध हैं. बुधवार को भी बंदूकधारी हमलावलों ने काबुल के एक नर्सिंग हॉस्पिटल पर हमला करने के बाद विस्फोट कर दिया था. इस हमले में 32 लोगों की मौत हुई थी. अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी ने हमलों की निंदा की है. उन्होंने कहा है कि सेना को रक्षात्मक रुख अपनाने की बजाय रक्षात्मक रुख अपनाने का आदेश दिया था, क्योंकि अमेरिका ने सेना वापस ले ली और तालिबान के साथ बातचीत करने की कोशिश की.

केन्या में अमेरिकी संयुक्त सैन्य बेस पर आतंकी हमला, आतंकी संगठन अल-शबाब ने दिया अंजाम

First published: 14 May 2020, 15:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी