Home » इंटरनेशनल » Modi Ouestions the credibility of UN in fight against global terrorism.
 

आतंकवाद के खिलाफ यूएन के रवैए पर मोदी ने उठाए सवाल

कैच ब्यूरो | Updated on: 31 March 2016, 16:01 IST

 पीएम नरेंद्र मोदी ने आतंकवाद से निपटने को लेकर संयुक्त राष्ट्र संघ के रवैए पर निराशा जताई है. ब्रसेल्स में मोदी ने कहा कि यूएन जैसे अंतराष्ट्रीय संगठन वैश्विक आतंकवाद के खिलाफ जंग में अपनी जिम्मेदारी नहीं निभा रहे हैं.

भारतीय समुदाय को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा कि आतंकवाद के खात्मे के लिए यूएन ने कोई प्रस्ताव नहीं बताया है.

मोदी ने यूएन के अस्तित्व पर सवाल उठाते हुए कहा कि जो संस्था वक्त और हालात के साथ व्यवहार नहीं बदलती उसके अलग-थलग पड़ने का खतरा बढ़ जाता है. मोदी ने कहा कि आतंकवाद को भारत पिछले 40 साल से झेल रहा है.

लेकिन जब तक अमेरिका पर हमला नहीं हुआ पूरी दुनिया का नजरिया कुछ और था. इसके बावजूद भारत ने कभी आतंकवाद के सामने घुटने नहीं टेके.

पाकिस्तान पर इशारों में वार

मोदी ने इस दौरान पाकिस्तान पर इशारों में निशाना साधते हुए कहा कि अच्छा आतंकवाद और बुरा आतंकवाद जैसे शब्दों ने आतंक के खिलाफ लड़ाई को कमजोर किया है. वहीं मोदी ने धर्म को आतंकवाद से अलग देखने की जरूरत बताई.

हाल ही में दिल्ली में हुए विश्व सूफी सम्मेलन का जिक्र करते हुए मोेदी ने कहा कि उदारवादी इस्लामी विद्वानों ने आतंकवाद को गलत ठहराया है. पीएम ने कहा कि कट्टरपंथी ताकतों पर रोक के लिए सही माहौल बनाने की जरूरत है.

मालबीक मेट्रो पर मोदी की श्रद्धांजलि

इससे पहले पीएम मोदी ने ब्रसेल्स आतंकी हमले में मारे गए लोगों को श्रद्धांजलि भी दी. 22 मार्च को हुए आतंकी हमले में 30 से ज्यादा लोगों की जान चली गई थी. पीएम ने आतंकियों का निशाना बने मालबीक मेट्रो स्टेशन जाकर फूल चढ़ाए.

ब्रसेल्स एयरपोर्ट और मेट्रो पर हुए आत्मघाती आतंकी हमले में इंफोसिस के कर्मचारी राघवेंद्रन गणेशन की भी मौत हो गई थी. पीएमओ ने तस्वीरों के साथ ट्वीट किया, “ ब्रसेल्स हिंसा में जान गंवाने वाले महिलाओं और पुरुषों की याद में."

First published: 31 March 2016, 16:01 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी