Home » इंटरनेशनल » mumbai bomb blast mastermind farooq takla arrested from dubai he is close to dawood ibrahim
 

दाऊद इब्राहिम का गुर्गा फारूक टकला दुबई से गिरफ्तार, खुलेंगे मुंबई धमाकों के राज

कैच ब्यूरो | Updated on: 8 March 2018, 14:46 IST

केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने मुंबई बम धमाकों के आरोपी दाऊद इब्राहिम के गुर्गे फारूक टकला को दुबई से गिरफ्तार किया है. सीबीआई इसे बड़ी कामयाबी मान रही है. क्योंकि टकला के मुंबई बम धमाकों से जुड़ी कई अहम जानकारियां मिलने की उम्मीज जताई जा रही है. बता दें कि फारूक टकला 1993 के मुंबई बम धमाकों के मास्टर माइंड दाऊद इब्राहिम का बेहद करीबी रहा है. वहीं कुछ लोग उसे दाऊद का दायां हाथ भी मानते हैं.

फारूक टकला पर आपराधिक साजिश, मर्डर, हत्या की कोशिश, फिरौती और आतंकी साजिश जैसे कई मामले दर्ज हैं. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, सीबीआई का मानना है कि फारुख टकला ही वह शख्स है, जिसने मुंबई में बम धमाके का पूरा प्लान बनाया था. फारुक की योजना के मुताबिक ही मुंबई जैसे शहर में एक साथ 12 जगहों पर धमाके किए गए. बताया जा रहा है कि 1993 में बम धमाके के बाद जब फारुक भारत से दुबई भाग गया, तो भारत सरकार ने इंटरपोल से मदद मांगी थी.

डी-कंपनी का काम संभालता था टकला

इसके बाद इंटरपोल ने 1995 में फारुक टकला के खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस जारी किया था. इस नोटिस के जारी होने के करीब 22 साल बाद टकला को सीबीआई ने गिरफ्तार किया है. दुबई में रहते हुए फारुक लगातार डी-कंपनी के संपर्क में रहा. बताया जा रहा है कि वह दुबई में डी-कंपनी का काम संभालता था.

सरेंडर की इच्छा जाहिर कर चुका है दाऊद

पिछले दिनों दाऊद इब्राहिम के वकील ने दाऊद के हवाले से उसके सरेंडर करने की इच्छा जाहिर की थी. दाऊद के वकील ने अपने बयान में कहा था कि दाऊद भारत आना चाहता है, लेकिन इसके पीछे उसने मुंबई की ऑर्थर रोड जेल में ही रखे जाने की शर्त रखी है.

 

मुंबई की टाडा अदालत में चल रही बम धमाकों की सुनवाई

बता दें कि 1993 में हुए मुंबई बम धमाकों की जांच मुंबई की टाडा अदालत में चल रही है. इस मामले की सुनवाई 1995 में शुरू हुई थी. मामले की चार्जशीट 10,000 से ज्यादा पेज की दायर की गई थी. इस मामले में 27 अन्य आरोपी भी शामिल हैं. जिनमे से पिछले साल सितंबर में विशेष टाडा अदालत ने दो आरोपियों को मौत की सजा सुनाई थी. वहीं अबू सलेम और एक दूसरे आरोपी को उम्रकैद की सजा हुई थी. जबकि एक अन्य आरोपी को 10 साल की सजा सुनाई गई थी.

मुंबई बम धमाकों में हुई थी
257 लोगों की मौत

25 साल पहले 12 मार्च 1993 को मुंबई में 12 सिलसिलेवार धमाके हुए. इन धमाकों में 257 लोगों की मौत हो गई और 713 लोग गंभीर रूप से घायल हो गए थे. सीबीआई के मुताबिक, मुंबई धमाके 6 दिसंबर 1992 को हुए बाबरी मस्जिद विध्वंस के बाद हुए दंगों का बदला लेने के लिए किए गए थे.

ये भी पढ़ें- International Women’s Day 2018: गूगल ने इस भारतीय समेत 12 महिलाओं पर बनाया डूडल

First published: 8 March 2018, 14:18 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी