Home » इंटरनेशनल » nasa Asteroid 2000 qw7 encounter with earth space
 

पृथ्वी की ओर बढ़ रही है ये बड़ी मुसीबत, 1908 की तरह पूरी दुनिया में मच सकती है तबाही

कैच ब्यूरो | Updated on: 28 August 2019, 10:10 IST

ब्रह्मांड का एक क्षुद्रग्रह (पत्थर का विशाल टुकड़ा) आने वाले समय में पृथ्वी के लिए बड़ी मुसीबत बन सकती है. वैज्ञानिकों ने इस क्षुद्रग्रह (एस्टेरॉयड) को 2000 QW7 नाम दिया गया है. यह पृथ्वी की ओर काफी तेजी से बढ़ रहा है. वैज्ञानिकों के अनुसार, यदि ये क्षुद्रगृह पृथ्वी से टकराया, तो इससे पूरी दुनिया में तबाही मच सकती है.

अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा के अनुसार, पृथ्वी ओर यह क्षुद ग्रह बढ़ रही है, जिसकी लंबाई सिडनी हार्बर ब्रिज के बराबर है. यह एस्टेरॉयड 23,100 किमी प्रति घंटा की रफ्तार से पृथ्वी पर 14 सितंबर को लगभग 5.3 मिलियन किलोमीटर की दूरी से गुजरेगा. लाइव साइंस के मुताबिक, यह काफी करीब मुठभेड़ है. यह पृथ्वी और चंद्रमा के बीच की दूरी से करीब 13.87 गुना अधिक दूरी से गुजरेगा.

पृथ्वी की तरह ही क्षुद्रग्रह सूर्य की परिक्रमा करता है. 1 सितंबर 2000 को क्षुद्रग्रह आखिरी बार पृथ्वी के संपर्क में आया था. इसके बाद 27 सितंबर 2006 को एक और इससे थोड़ा छोटा क्षुद्रग्रह QV89 पृथ्वी के पास से गुजरा था, लेकिन जुलाई माह के बाद यह गायब हो गया.

मालूम हो कि हमारे ब्रह्मांड में बहुत से धूमकेतु, क्षुद्रग्रह और उल्कापिंड तैर रहे होते हैं. यह काफी अनियंत्रित होते हैं. अगर ये किसी भी ग्रह के गुरुत्वाकर्षण के दायरे में आते हैं, तो उससे टकराकर पूरी तरह से नष्ट हो जाते हैं. अगर पृथ्वी पर ऐसा कोई टकराव हुआ, तो इससे काफी भारी तबाही आ सकती है.

1908 में साइबेरिया के टुंगुस्का में एक क्षुद्रग्रह पृथ्वी से टकराई थी, जो जलकर नष्ट हो गई. यह पृथ्वी से टकराने की वजह से क़रीब 100 मीटर बड़ा आग का गोला बन गई. इसकी चपेट में आने से करीब 8 करोड़ पेड़ पूरी तरह से बर्बाद हो गए थे.

First published: 28 August 2019, 10:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी