Home » इंटरनेशनल » Nawaz Sharif resigns as Pakistan PM after Supreme convicted in Panama Papers case
 

पनामा गेट: नवाज शरीफ़ मंत्रिमंडल बर्खास्‍त

कैच ब्यूरो | Updated on: 28 July 2017, 15:22 IST

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ़ को पनामा गेट कांड में सुप्रीम कोर्ट ने दोषी ठहराया है. पांच जजों की बेंच ने सर्वसम्मति (5-0) से नवाज़ शरीफ़ इस मामले में दोषी ठहराया है. पांच जजों की बेंच ने फैसला सुनाते हुए कहा कि नवाज शरीफ के खिलाफ इस मामले में मुकदमा चलाया जाना चाहिए और उनको प्रधानमंत्री पद के अयोग्‍य ठहरा दिया है.

सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद पाकिस्तान के पीएम नवाज़ शरीफ ने अपने पद से इस्तीफ़ा दिया है. इसके साथ ही नवाज ने केंद्रीय मंत्रिमंडल को बर्खास्‍त कर दिया गया है. नवाज शरीफ के खिलाफ फैसला आते ही उनका सियासी भविष्‍य अधर में लटक गया है. शरीफ की पार्टी पाकिस्‍तान मुस्लिम लीग(नवाज) को नया नेता चुनना होगा और अब सत्‍ता उनके परिवार के हाथों से बाहर जा सकती है.

सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को नवाज़ शरीफ के अलावा उनकी बेटी मरियम नवाज़ और उनके दो बेटों हसन नवाज़ और हुसैन नवाज़ को भी मनी लॉन्ड्रिंग के मामले में दोषी करार दिया है. 

20 अप्रैल को SIT को मिली थी जांच

इससे पहले 20 अप्रैल को सुप्रीम कोर्ट की पांच जजों की बेंच ने प्रधानमंत्री नवाज शरीफ़ के खिलाफ इस मामले में जांच का आदेश दिया था. संयुक्त जांच टीम को दो महीने में जांच पूरी करने का आदेश देते हुए सुप्रीम कोर्ट के दो जजों ने उस वक्त नवाज़ शरीफ़ को पीएम पद के अयोग्य बताया था. 

सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट के तीन जजों ने कहा कि इस मामले में अभी और जांच की जरूरत है. सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद ज्वाइंट इंवेस्टीगेशन टीम ने कतर में पैसा भेजने के आरोपों की भी तफ्तीश की. 

क्या था पूरा मामला?

पनामा पेपर्स लीक से जानकारी मिली थी कि पाकिस्तानी प्रधानमंत्री के बेटों के स्वामित्व वाली कुछ कंपनियां हैं जो बाहरी मुल्कों में कारोबार कर रही हैं, जिनका लेन-देन लाखों डॉलर में है. हालांकि पनामा पेपर्स में उनके नाम का जिक्र नहीं है. इसके बाद पाकिस्तान की राजनीति में भूचाल आ गया था. 

पाकिस्तान की विपक्षी पार्टियों तहरीक-ए-इंसाफ, जमात-ए-इस्लामी, आवामी मुस्लिम लीग ने नवाज शरीफ के खिलाफ याचिका दाखिल की थी.

First published: 28 July 2017, 15:22 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी