Home » इंटरनेशनल » Nepal caught in China's trickery, capture Rui village of North Gorkha
 

चीन की चालबाजी में फंस गया नेपाल, उत्तरी गोरखा के रुई गांव पर ड्रैगन ने कर लिया कब्‍जा

कैच ब्यूरो | Updated on: 22 June 2020, 16:10 IST

China Nepal Relation: एक तरफ नेपाल के प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली भारत के खिलाफ नक्‍शा बदलने में लगे हुए हैं. दूसरी तरफ चीन ने नेपाल को धोखा देते हुए उसके उत्तरी गोरखा के रुई गांव पर कब्‍जा जमा लिया है. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, नेपाल के प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली ने इसी बात को दबाने के लिए कालापानी, लिपुलेख और लिम्पियाधुरा का मुद्दा उठाया था.

रिपोर्ट के अनुसार, नेपाल की सरकार और वहां के कानूनविद तथा बुद्धिजीवी कालापानी, लिपुलेख और लिम्पियाधुरा क्षेत्र में भारतीय अतिक्रमण के बारे में बात करने में व्यस्त रहे. दूसरी तरफ उसके रुई गांव पर चीन के अतिक्रमण की बातों को वहां की सरकार छिपाती रही. गोरखा का रुई गांव अब चीन के स्वायत्त वाले तिब्बत के कब्‍जे में आ गया है.

72 घरों वाले इस गांव में चीनी सेना ने घुसपैठ कर कब्‍जा कर लिया है. हालांकि नेपाल ने अभी भी रुई गांव को अपने मानचित्र में जगह दी हुई है. लेकिन अब वहां पर पूरी तरह चीनी सरकार का नियंत्रण है. भू-राजस्व कार्यालय गोरखा की तरफ से जानकारी आई कि अभी भी रुई गांव के निवासियों का राजस्व रिकॉर्ड है.

चीन की अब खैर नहीं, भारत ने लद्दाख में तैनात की माउंटेन फोर्स, कारगिल में टिक नहीं पाया था पाकिस्तान

भू-राजस्व कार्यालय की फाइलों से पता चलता है कि रुई भोट क्षेत्रों के निवासियों द्वारा राजस्व का विवरण अभी भी फ़ाइल संख्या एक में दर्ज है. इतिहासकार रमेश धुंगल ने बताया कि रुई और तेइगा गांव गोरखा जिले के उत्तरी भाग में थे. उन्होंने बताया कि रुई गांव नेपाल का हिस्सा था. इसे नेपाल ने न तो युद्ध में खोया है और न ही गांव तिब्बत से संबंधित किसी विशेष समझौते के अधीन था.

उन्होंने बताया कि नेपाल से हुई लापरवाही के कारण रुई और तेघा दोनों गांव चीन ने कब्जा कर लिए. चुमुबरी ग्रामीण नगर पालिका वार्ड नंबर 1 के वार्ड अध्यक्ष दावा करते हैं कि रुई गांव  गोरखा का हिस्सा था. वहां के निवासी हमेशा से नेपाल सरकार को राजस्व जमा करते थे, लेकिन अब ये तिब्बती निवासी बन गए हैं.

भारत-चीन विवाद: PM मोदी को मनमोहन सिंह ने दी नसीहत, BJP अध्यक्ष ने ऐसे किया पलटवार

J&K: अनंतनाग में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़, सीजफायर उल्लंघन में एक जवान शहीद

First published: 22 June 2020, 16:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी