Home » इंटरनेशनल » Nobel laureate Aung San Suu Kyi has made her first public comments on the fate of her country's persecuted Rohingya minority since new viole
 

रोहिंग्या मुसलमानों पर हो रही हिंसा पर नोबेल शांति पुरस्कार विजेता आंग सान सू ची ने तोड़ी चुप्पी

कैच ब्यूरो | Updated on: 6 September 2017, 16:38 IST

म्यांमार की विदेश मंत्री आंग सान सू की ने रखाइन राज्य में चल रही हिंसा के संदर्भ में पहली प्रतिक्रिया दी है. इस हिसा में अब तक कम से कम 400 लोगों की मौत हो चुकी है और 1,20,000 रोहिंग्या मुसलमानों को पलायन करना पड़ा है.

नोबेल शांति पुरस्कार विजेता जीत चुकीं सू की ने तुर्की के राष्ट्रपति रेसेप तैयप एर्दोगन को फोन पर वार्ता के दौरान बताया, "उनकी (सू की) सरकार सुनिश्चित कर रही है कि देश के सभी नागरिक अपने अधिकारों के संरक्षण के हकदार हो." यह जानकारी म्यांमार की सूचना समिति द्वारा बुधवार को जारी बयान में दी गई.

समाचार एजेंसी एफे न्यूज के मुताबिक, रखाइन राज्य में चल रहे मानवीय संकट के संबंध में उचित कार्रवाई नहीं करने को लेकर सू की की चौतरफा आलोचना हो रही है, जो दस लाख से ज्यादा रोहिंग्या मुसलमानों का घर है.

First published: 6 September 2017, 16:38 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी