Home » इंटरनेशनल » North Korea claims first successfully hydrogen bomb test
 

पहले दावा, अब उत्तर कोरिया ने हाइड्रोजन बम का परीक्षण किया

कैच ब्यूरो | Updated on: 6 January 2016, 13:34 IST
QUICK PILL
  • उत्तर कोरिया ने दावा किया है कि उसने हाइड्रोजन बम का परीक्षण किया है. जापान ने भी परमाणु परिक्षण की आशंका जताई है.
  • पिछले महीने किम जोंग उन ने कहा था कि उत्तर कोरिया अपनी \r\nसुरक्षा के लिए ए-बम और एच-बम का भी इस्तेमाल कर सकता है.

उत्तर कोरिया ने कहा है कि उसने अपने पहले हाइड्रोजन बम का सफलतापूर्वक परीक्षण किया है. पिछले महीने 11 दिसंबर को उत्तर कोरिया के शीर्ष नेता किम जोंग उन ने दावा किया था कि उनका देश 'ए-बम और एच-बम' फोड़ने के लिए तैयार है.'

बुधवार को उत्तर कोरिया के सरकारी टीवी चैनल ने इस खबर की पुष्टि करते हुए कहा कि परीक्षण सुबह 10 बजे किया गया. वहीं अमरीकी भूगर्भ सर्वेक्षण ने उत्तर कोरिया में रिक्टर पैमाने पर 5.1 तीव्रता के झटके दर्ज किए हैं.

भूकंप आने के बाद चीन, जापान और दक्षिण कोरिया ने आशंका जताई थी कि उत्तर कोरिया में बुधवार को दर्ज किया गया भूकंप परमाणु परीक्षण का नतीजा हो सकता है. इन देशों का कहना है कि इस तरह के संकेत हैं कि भूकंप की वजह प्राकृतिक नहीं है.

जिस जगह पर भूकंप आने की बात की जा रही है, उस जगह का इस्तेमाल पहले परमाणु परीक्षण के लिए किया जाता था. पुनगेई-री परीक्षण स्थल में 2006 से लेकर अब तक उत्तर कोरिया ने 3 बार भूमिगत परमाणु परीक्षण किए हैं.

प्रतिबंध के बावजूद उत्तर कोरिया ने किया परीक्षण

उत्तर कोरिया पर अमेरिका और संयुक्त राष्ट्र ने परमाणु और मिसाइल परीक्षण पर प्रतिबंध लगाया हुआ है. इसके बावजूद उत्तर कोरिया ने चौथी बार भूमिगत परमाणु परीक्षण किया है. इससे पहले कोरिया 2006, 2009  और 2013 में परमाणु परीक्षण कर चुका है.

उत्तर कोरिया ने कहा कि अमेरिका की शत्रुतापूर्ण नीतियों के कारण खुद को सुरक्षित रखने के लिए वह अपने परमाणु कार्यक्रम जारी रखेगा. वह एक जिम्मेदार परमाणु राष्ट्र के रूप में काम करेगा. जब तक उसकी संप्रभुता को किसी प्रकार का कोई खतरा नहीं होगा, तब तक वह इसका इस्तेमाल नहीं करेगा.

kim1.jpeg

उत्तर कोरिया ने कहा है परमाणु क्षमता का स्थानांतरण भी किसी को नहीं किया जाएगा. माना जाता है कि कोरिया को परमाणु तकनीक पाकिस्तान के मशहूर परमाणु वैज्ञानिक अब्दुल कादिर खान ने दिए हैं. खान पाकिस्तान के परमाणु कार्यक्रम के जनक हैं.

परीक्षणों के कारण उत्तर कोरिया वैश्विक स्तर पर पहले ही काफी प्रतिबंध झेल रहा है. ताजा घटनाक्रम में  जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे ने कहा कि परमाणु अप्रसार के खिलाफ उत्तर कोरिया की चुनौती का मजबूती से जवाब दिया जाएगा. उन्होंने कहा कि ताजा परमाणु परीक्षण जापान की सुरक्षा के लिए खतरा है, उनका देश इसे बर्दाश्त नहीं करेगा.

अपनी सुरक्षा के लिए एच-बम का भी इस्तेमाल कर सकता है उत्तर कोरिया

पिछले महीने किम जोंग उन ने कहा था कि उनके दादाजी किम इल-सुंग ने उत्तर कोरिया को एक शक्तिशाली परमाणु हथियारों वाला देश बनाया है. कोरिया अपनी सुरक्षा के लिए ए-बम और एच-बम का भी इस्तेमाल कर सकता है.

हालांकि उस समय अमेरिका ने कोरिया के दावे को सिरे से खारिज किया था. तब दक्षिण कोरिया की खुफिया एजेंसियों ने भी दावा किया था कि उत्तर कोरिया के पास हाइड्रोजन बम की क्षमता होने के कोई सबूत नहीं है. उत्तर कोरिया परमाणु क्षमता के अपने दावे के बावजूद ऐसी मिसाइलें नहीं बना सकता है, जो परमाणु अस्त्र ले जाने लायक हों.

First published: 6 January 2016, 13:34 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी