Home » इंटरनेशनल » north korea rocket launch
 

क्या उत्तर कोरिया ने रॉकेट की जगह बैलिस्टिक मिसाइल का परीक्षण किया है?

कैच ब्यूरो | Updated on: 7 February 2016, 13:15 IST

उत्तर कोरिया ने रविवार को लंबी दूरी के एक रॉकेट को लांच किया है. उत्तर कोरिया का कहना है कि इस लांच के जरिए पृथ्वी अवलोकन उपग्रह क्वांगम्योंग 4 को सफलतापूर्वक कक्षा में स्थापित कर दिया गया.

वहीं जापान, अमेरिका और अन्य देशों का मानना है कि यह लांच एक लंबी दूरी की बैलिस्टिक मिसाइल का परीक्षण है. संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद प्रस्तावों के तहत उत्तर कोरिया पर बैलिस्टिक मिसाइल प्रौद्योगिकी के जरिए किसी भी तरह के रॉकेट के लांच पर प्रतिबंध है.

जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे ने रॉकेट लांच की निंदा करते हुए कहा कि यह संयुक्त राष्ट्र के प्रस्तावों का साफ उल्लंघन है. उन्होंने कहा कि एक उकसावे वाला कृत्य है, जिससे देश की सुरक्षा को खतरा है.

पढ़ें: उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जॉन्ग उन से जुड़ी 5 अनोखी बातें

दक्षिण कोरिया की राष्ट्रपति पार्क ग्युन हे ने रॉकेट लांच के बाद राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद (एनएससी) के साथ एक आपातकाल बैठक बुलाई है. दक्षिण कोरिया के विदेश मंत्रालय ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के साथ आपातकाल बैठक बुलाने का आग्रह किया.

दूसरी ओर अमेरिका के विदेश मंत्री जॉन केरी ने कहा कि उनका देश मित्र देशों की सुरक्षा के लिए प्रतिबद्ध है. संयुक्त राष्ट्र के महासचिव बान की मून ने इसे निंदनीय बताते हुए उत्तर कोरिया से भड़काऊ कार्रवाई बंद करने का अनुरोध किया है.

पढ़ें: पहले दावा, अब उत्तर कोरिया ने हाइड्रोजन बम का परीक्षण किया

इस बीच संयुक्त राष्ट्र से जुड़े राजनयिकों ने कहा है कि संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद उत्तर कोरिया द्वारा किए गए लंबी दूरी के रॉकेट के प्रक्षेपण के मुद्दे पर रविवार को न्यूयॉर्क में आपात बैठक करेगी.

kim1.jpeg

रक्षा विशेषज्ञों ने इसे रॉकेट परीक्षण की आड़ में किया गया मिसाइल परीक्षण करार दिया है, जो कि अमेरिका तक वार करने की क्षमता रखता है.

पिछले महीने भी उत्तर कोरिया ने दावा किया था कि उसने अपने पहले हाइड्रोजन बम का सफलतापूर्वक परीक्षण किया है.

First published: 7 February 2016, 13:15 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी