Home » इंटरनेशनल » Now Chinese Ambassador Hou Yanqi activated to save PM Oli's chair in Nepal
 

नेपाल में क्यों हो रही है इस चीनी महिला की चर्चा, अब पीएम ओली की कुर्सी बचाने में जुटीं

कैच ब्यूरो | Updated on: 7 July 2020, 15:11 IST

नेपाल में चीन की राजदूत होउ यांकी (Hou Yanqi) एक बार फिर से चर्चा में हैं. दरअसल नेपाल के पीएम केपी ओली अपनी ही पार्टी में खराब प्रशासन के आरोपों के कारण घिर गए हैं, उनसे इस्तीफे की मांग की जा रही है. प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली पर बढ़ते दबाव के बीच चीनी राजदूत ने नेपाली नेताओं के साथ बैठकें की है. हालांकि ऐसे विवादों से राजदूत का कोई वास्ता नहीं होता है लेकिन फिर भी अपनी मीटिंग्स के कारण वह एक बार फिर से चर्चा में हैं.

इससे पहले अप्रैल के अंत में और मई की शुरुआत में सत्तारूढ़ नेपाल कम्युनिस्ट पार्टी (राकांपा) के नेताओं के साथ कई बैठकें कीं थी, जब पार्टी में आंतरिक दरार सार्वजनिक हो गई और ओली को हटाने की मांग की जा रही थी. यांकी को कुछ लोग ओली करीब मानते हैं. राजनीतिक विश्लेषकों का यह भी मानना है कि चीन ने विभिन्न कम्युनिस्ट नेताओं को सत्तारूढ़ पार्टी बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है. पिछले हफ्ते, 5 जुलाई को होउ यांकी ने राष्ट्रपति बिद्या भंडारी से मुलाकात की थी. चीनी राजदूत का इस कदर नेपाल की राजनीति में सक्रिय होना हर किसी को चौंका रहा है.


कब आयी थी चर्चा में यांकी

बीते कुछ समय से नेपाल में चीनी राजदूत होउ यांकी (Ambassador Hou Yanqi) खूब चर्चा में हैं. कई लोगों का कहना है कि नेपाल के चीन की ओर झुकते रिश्तों के पीछे इसी चीनी महिला राजदूत का योगदान है. बीते दिनों होउ यांकी तब चर्चा में आयी थी जब नेपाल में अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर काठमांडू में चीनी दूतावास में आयोजित एक कार्यक्रम में होउ यांकी को लहंगा-चोली में देखा गया था और उन्होंने एक लोकप्रिय नेपाली गीत पर नृत्य किया था.

नेपाल को चीन के रंग में रंगने वाली कौन है ये महिला, सोशल मीडिया पर है कुछ ऐसी चर्चा

नेपाल के पीएम केपी ओली के रुख में भारत के लिए आये बदलाव के पीछे कई लोग चीनी महिला राजदूत का योगदान बता रहे हैं. हालही में नेपाली पीएम ओली ने नेपाल का नया नक्शा संसद में पास करवा दिया, जिसमें भारत के तीन हिस्सों को अपना बताया गया है.भारत में भी सोशल मीडिया पर यांकी खूब चर्चा का विषय रही हैं. 

भारत के बाद अमेरिका भी लगा सकता है टिकटॉक सहित चाइनीज ऐप्स पर बैन, पोम्पियो न कही ये बड़ी बात

First published: 7 July 2020, 15:08 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी