Home » इंटरनेशनल » Now the voice of the Hindu Dalit woman, the PPP has chosen the senator
 

अब पाक संसद में गूंजेगी हिन्दू दलित महिला की आवाज, पीपीपी ने चुना सीनेटर

कैच ब्यूरो | Updated on: 4 March 2018, 16:34 IST

पाकिस्तान में पहली बार किसी हिंदू महिला को सीनेटर बनने का गौरव हासिल हुआ है. पाकिस्तान में 39 वर्षीय कृष्णा कुमारी कोलही को पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (पीपीपी) ने सिंध विधानसभा से अल्पसंख्यक संसदीय सीट के लिए चुना है.

कृष्णा कोहली ने अपनी सीट पर विपक्ष में खड़े हुए तालिबानी मौलाना को बड़े अंतर से हराते हुए यह जीत दर्ज की है. हालांकि यह कोई पहला मौका नहीं जब किसी हिंदू दलित को पाकिस्तान में सीनेटर  चुना गया हो. इससे पहले पीपीपी ने 2009 में एक दलित डॉ. खाटूमल जीवन और 2015 में इंजीनियर ज्ञानीचंद को सीनेटर के लिए नामांकित किया

कृष्णा कोहली का नाता स्वतंत्रता सेनानी परिवार से रहा है. वह सिंध प्रांत में थार के सुदूर नगरपारकर जिले की निवासी है और स्वतंत्रता सेनानी रूपलो कोहली के परिवार से ताल्लुक रखती हैं.

कृष्णा के पिता एक छोटे किसान थे कृष्णा जब 16 साल की उम्र में अपनी 9 वीं कक्षा की पढ़ाई पूरी कर रही थी तभी उनकी शादी लालचंद से कर दी गई. कृष्णा ने शादी के बाद भी अपनी शिक्षा जारी रखते हुए 2013 में सिंध यूनिवर्सिटी से समाजशास्त्र में मास्टर डिग्री हासिल की. कृष्णा के सीनेटर चुने जाने पर पत्रकार हामिद मीर ने ट्वीट कर बधाई दी.

 

हामिद ने ट्वीट किया 'गरीब हिंदू महिला चुनी गईं. कृष्णा कोहली को पहली दलित महिला सीनेटर बनने पर बधाई हो. इसका श्रेय बिलावल भुट्टो को जाता है.'

First published: 4 March 2018, 16:34 IST
 
अगली कहानी