Home » इंटरनेशनल » Oldest muslim graves found in Europe, claimed by Archaeologists
 

पुरातत्वविदों ने यूरोप में सबसे पुरानी मुस्लिम कब्रों की पहचान की

कैच ब्यूरो | Updated on: 25 February 2016, 23:17 IST

पुरातत्वविदों की मानें तो दक्षिणी फ्रांस में आठवीं सदी की तीन कब्रों से यूरोप में मुसलमानों द्वारा शवों को दफनाने की सबसे पुरानी प्रथा का प्रमाण मिलता है.

प्लॉस वन जर्नल में छपे एक अध्ययन के मुताबिक नीम स्थित मध्यकालीन स्थल पर मिले कंकाल मक्का की ओर मुंह किए हुए थे. कंकालों के जीन विश्लेषण से पता चला कि इनका पैतृक संबंध उत्तरी अफ्रीका से है.  लिहाजा ये मुस्लिम हो सकते हैं.

इसके अलावा रेडियोकार्बन डेटिंग बताती है कि कंकालों की हड्डियां सातवीं से नौवीं शताब्दी की हो सकती हैं. इससे पता चलता है कि ये मुस्लिम उस वक्त यूरोप पर विजय के दौरान आए थे.

पढ़ेंः रूढ़ियों को तोड़ती अमेरिकी तलवारबाज इब्तिहाज मोहम्मद

अध्ययन के मुताबिक, "इन आंकड़ों को देखते हुए संभावना जताई जा सकती है नीम की कब्रों में मिले ये आदिम मुस्लिम जातियों के थे जो उत्तरी अफ्रीका तक अरब के विस्तार के दौरान उमय्यद सेना में शामिल हो गए थे." इस खोज ने पुरातात्विक आंकड़ों और इतिहास की किताबों में सीमित उस दौर की जानकारी में नए आयाम जोड़े हैं. 

शोध के प्रमुख लेखक और फ्रेंच नेशनल इंस्टीट्यूट फॉर प्रीवेंटिव आर्कियोलॉजिकल रिसर्च के मानवविज्ञानी वाई ग्लेजे ने एएफपी को बताया, "हम जानते हैं कि मुसलमान आठवीं सदी में फ्रांस आए थे लेकिन अब तक हमारे पास उनकी इस यात्रा के तथ्यात्मक प्रमाण नहीं थे."

मालूम हो कि यह कब्रें पहली बार नीम के एक प्रमुख राजमार्ग के पास 2006 में खोजी गईं थी. इसके बाद हुए अध्ययन में पता चला कि कब्रों में दफनाए गए सभी शव मक्का की ओर मुंह करके लेटे हुए थे. जो कि शवों को दफनाने की पारंपरिक इस्लामि प्रक्रिया है. 

पढ़ेंः टेक ऑफ और लैंडिंग के दौरान क्यों खुली रखनी पड़ती है विमान की खिड़की?

First published: 25 February 2016, 23:17 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी