Home » इंटरनेशनल » Opposition demand CBI probe into murder of two cattle traders in Jhabar
 

झारखंड: दो मुस्लिमों की हत्या पर तेज़ हो रही राजनीति

कैच ब्यूरो | Updated on: 21 March 2016, 20:12 IST
QUICK PILL
  • कांग्रेस के झारखंड ईकाई के प्रेसिडेंट सुखदेव भगत और झारखंड विकास मोर्चा के प्रेसिडेंट और पूर्व मुख्यमंत्री बाबू लाल मरांडी ने हत्याकांड की सीबीआई से जांच कराए जाने की मांग की है.
  • शुरुआती सबूतों के आधार पर यह बात साबित होती दिख रही है कि पशुओं की लूट के इरादे से हत्याकांड को अंजाम दिया गया. न तो शिकायकर्ता और नहीं परिवार वालों ने इस घटना के लिए किसी संगठन की तरफ इशारा किया है और न ही उन्होंने पुलिस के दावे को चुनौती दी है.

झारखंड में विपक्षी दलों ने दो मुस्लिम पशु कारोबारियों के हत्याकांड की सीबीआई से जांच कराए जाने की मांग की है. कांग्रेस के झारखंड ईकाई के प्रेसिडेंट सुखदेव भगत और झारखंड विकास मोर्चा के प्रेसिडेंट और पूर्व मुख्यमंत्री बाबू लाल मरांडी ने हत्याकांड की सीबीआई से जांच कराए जाने की मांग की है.

दोनों नेताओं ने झाबर गांव जाकर मारे गए लोगों के परिवार के सदस्यों से मुलाकात की. लातेहार जिले के बालुमाथ पुलिस स्टेशन में दर्ज एफआईआर के मुताबिक मोहम्मद मजलूम (35 साल) और आजाद खान (15 साल) शुक्रवार और शनिवार को तड़के सुबह पशु बाजार के लिए निकले. इसके बाद इसी गांव के मिथिलेश प्रसाद साहू, प्रमोद कुमार साहू, मनोज कुमार साहू और मनोज साहू ने मजलूम और आजाद को घेर लिया. उनका कहना था कि वह पशुओं को बेचने के लिए बाजार जा रहे हैं.

मजलूम और आजाद ने अपने पशुओं को छीने जाने का विरोध किया. इसके बाद सभी लोगों ने दोनों की पीटकर हत्या कर दी और फिर इसके बाद उन्हें पेड़ से लटका दिया.

अपराध के बाद पुलिस ने इस मामले में आठ लोगों को आरोपी बनाया है. उनमें से पांच साहू लोगों को पुलिस गिरफ्तार कर चुकी है जबकि तीन अभी भी फरार हैं.

मंशा का पता नहीं

पुलिस हालांकि अभी तक हत्याकांड के पीछे छुपी मंशा का पता नहीं लगा पाई है. पुलिस का हालांकि कहना है कि आरोपियों ने दोनों मृतकों से पशु छीनने की कोशिश की जिसका मजलूम और इब्राहिम ने विरोध किया. परिणाम?

दोनों को घेरकर पीटा गया और फिर पेड़ से लटकाकर मार दिया गया. पुलिस का कहना है कि पांच आरोपियों को गिरफ्तार किया जा चुका है और इन्हें न्यायिक हिरासत में भेजा गया है. 

बाद में लातेहार के एसपी अनूप बिथारे ने कहा कि आरोपियों में से एक गौर रक्षा दल से जुड़ा हुआ है इसलिए इस मामले के सभी पहलुओं को खंगाला जा रहा है.

पुलिस हालांकि अभी तक हत्याकांड के पीछे छुपी मंशा का पता नहीं लगा पाई है

एक आरोपी प्रमोद कुमार साहू ने पुलिस को बताया कि इब्राहिम को इसलिए मारा गया क्योंकि उन्हें इस बात की आशंका थी वह उन्हें बाद में पहचान लेगा. घटना के बाद जिला प्रशासन ने बालूमाथ इलाके में धारा 144 लगा दी है ताकि कानून और व्यवस्था की स्थिति को बनाए रखा जा सके.

प्राथमिक तौर पर आए साक्ष्यों के बाद यह बात साबित होती दिख रही है पशुओं की लूट के इरादे से हत्याकांड को अंजाम दिया गया. न तो शिकायकर्ता और नहीं परिवार वालों ने इस घटना के लिए किसी संगठन की तरफ इशारा किया है और नहीं उन्होंने पुलिस के दावे को चुनौती दी है.

विपक्ष की तरफ से सीबीआई जांच की मांग के बारे में झारखंड के मुख्यमंत्री रघुवर दास से पूछे जाने पर उन्होंने मामले में कोई टिप्पणी करने से मना कर दिया. हालांकि उन्होंने कहा, 'हमने इस मामले को गंभीरता से लिया है. पुलिस अपना काम कर रही है. दोषियों को सख्त सजा दी जाएगी.'

First published: 21 March 2016, 20:12 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी