Home » इंटरनेशनल » Orlando shooter Omar Mateen had anti-gay views and had regularly assaulted a former wife (Source: AFP
 

ऑरलैंडो शूटआउट: उमर मतीन ने फोन करके कहा था आईएसआईएस आतंकी हूं

कैच ब्यूरो | Updated on: 13 June 2016, 12:54 IST
(उमर मतीन)

अमेरिका के फ्लोरिडा में शूटआउट के मामले में हमलावर की पहचान उमर मतीन के तौर पर हुई है. एफबीआई की जांच में खुलासा हुआ है कि हमले से पहले उसने फोन करके कहा था कि वह आईएसआईएस आतंकी है.

अमेरिकी मीडिया की रिपोर्ट के मुताबिक मतीन आतंकी संगठन आईएसआईएस से जुड़ा हुआ था. उसके पिता ने कहा है, "मतीन गे कपल्स को देखकर भड़क जाता था. हाल ही में उसने ऐसा देखा और ऐसा कदम उठा लिया. उसकी हरकत को मजहब से नहीं जोड़ें."

समलैंगिक विरोधी भावना

संघीय जांच एजेंसी (एफबीआई) की जांच में खुलासा हुआ है कि हमले को अंजाम देने से ठीक पहले मतीन ने 911 पर फोन करके कहा था कि वह आईएसआईएस का आतंकी है. एफबीआई से बड़ी चूक यह हुई कि वह 2013 और 2014 में उससे पूछताछ के बावजूद उसके इरादों का पता नहीं लगा पाई.

पढ़ें: अमेरिका: फ्लोरिडा के गे नाइट क्लब में फायरिंग, 50 लोगों की मौत

मतीन के पिता सिद्दीकी का कहना है, ''इस हमले का धर्म से कोई लेना-देना नहीं है. मियामी में हाल में ही एक गे कपल को गले लगते हुए देख कर उमर भड़क गया था. हो सकता है कि इसीलिए उसने नाइट क्लब में ऐसी हरकत की. वह उस वक्त बहुत गुस्से में था, जब उसकी वाइफ और बच्चों के सामने दो मेल किस कर रहे थे.''

आरोपी हमलावर उमर मतीन की शादी न्यू जर्सी की रहने वाली एक लड़की से हुई थी. बताया जा रहा है कि उससे कुछ दिनों पहले अलग हो चुकी पत्नी ने आरोप लगाया है कि मतीन उससे मारपीट करता था. वो छोटी बातों पर गुस्सा हो जाता था.

अफगान मूल का था मतीन

29 साल का हमलावर उमर मतीन अफगानिस्तान मूल का अमेरिकी नागरिक बताया जा रहा है. वह अपने माता-पिता के साथ 1986 में अमेरिका आया था और फ्लोरिडा में ही रहता था.

आईएसआईएस की न्यूज पोस्ट करने वाले एक ट्विटर अकाउंट पर उमर को आईएसआईएस का समर्थक बताया जा रहा है. हालांकि, पुलिस ने ऐसी कोई पुष्टि नहीं की है.

पढ़ें: बराक ओबामा: ये अमेरिका पर आतंकी हमला है

जानकारी के मुताबिक, शनिवार रात दो बजे (भारतीय समयानुसार रविवार सुबह 10.30 बजे) सौ से ज्यादा लोग क्लब में मौजूद थे. उस वक्त वे अमेरिकी लैटिन धुनों पर नाच-गा रहे थे. इसी दौरान आरोपी हमलावर उमर मतीन ने अंधाधुंध फायरिंग शुरू कर दी.  

दो बार एफबीआई की पूछताछ

2013 और 2014 में भी उसका नाम अमेरिकी जांच एजेंसियों की लिस्ट में आया था. शक था कि उसके रिश्ते इस्लामिक कट्टरपंथियों से हैं. मतीन ने अपने को-वर्कर्स के साथ बातचीत में आतंकियों के साथ रिश्तों को लेकर कमेंट्स किए थे.

एफबीआई ने इस मामले में गवाहों के बयान लिए और मतीन को सर्विलांस पर भी रखा गया. दो बार उससे पूछताछ हुई. लेकिन उसके खिलाफ कोई सबूत नहीं मिलने पर मतीन को छोड़ दिया गया.

गौरतलब है कि अमेरिका के फ्लोरिडा प्रांत के ऑरलैंडो में एक गे नाइट क्लब में शूटआउट के दौरान 50 लोगों की हत्या कर दी गई. आरोपी हमलावर मतीन को बाद में सुरक्षाबलों ने मार गिराया.

First published: 13 June 2016, 12:54 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी