Home » इंटरनेशनल » pak government accepts in Lahor High court, 'Hafiz Saeed is a terrorist'
 

लाहौर हाईकोर्ट में पाकिस्तान गृह मंत्रालय ने कहा, 'हाफिज़ सईद आतंकवादी हैं'

कैच ब्यूरो | Updated on: 21 April 2017, 15:22 IST

बार-बार मना करने के बावजूद आख़िरकार पाकिस्तान ने जमात-उद-दावा प्रमुख हाफिज सईद को आतंकवादी मान लिया है. लाहौर हाईकोर्ट में हलफनामा देकर पाकिस्तान के गृहमंत्रालय ने साफ कर दिया है कि हाफिज़ सईद आतंकी गतिविधियों से जुड़े हुए हैं.

पाकिस्तान के गृह मंत्रालय ने यह हलफनामा लाहौर हाईकोर्ट के एक सवाल के जवाब में दिया है. हाफिज़ सईद ने लाहौर हाईकोर्ट में याचिका दाखिल कर कहा था कि हुक़ूमत-ए-पाकिस्तान ने उन्हें कई महीनों से ग़ैर कानूनी तरीक़े से नज़रबंद कर रखा है. हाई कोर्ट से जब सरकार से इसकी वजह पूछी तो पाक गृह मंत्रालय ने कहा कि सईद को एंटी टेररिज्म एक्ट के तहत हिरासत में रखा गया है और उसके खिलाफ अशांति फैलाने के पर्याप्त सबूत मौजूद हैं.


पाकिस्तानी हुक़ूमत ने हाफिज सईद को 30 जनवरी से लाहौर में नज़रबंद कर रखा है. सईद का नाम एंटी टेररिज़्म एक्ट की चौथी अनुसूची में शामिल है. इस अनुसूची में नाम शामिल होने के बाद से हाफ़िज़ सईद आतंकवादियों की श्रेणी में आ गए हैं. मालूम हो कि पाकिस्तान ने यह कदम पड़ोसी भारत, अमेरिका और संयुक्त राष्ट्र के सालों के दबाव के बाद उठाया था.


माना जाता है कि हाफ़िज़ सईद जमात उद दावा प्रमुख ही लश्कर-ए-तैयबा के भी प्रमुख हैं जिसपर 26 नवंबर 2009 को मुंबई में हुए आतंकी हमले का आरोप है. इस हमले में 160 लोगों की मौत हुई थी जिसमें कई विदेशी नागरिक भी शामिल थे. भारत इसपर कड़ी प्रतिक्रिया देते हुए आरोपियों पर कार्रवाई की मांग करता रहा है लेकिन पाकिस्तान बार-बार कार्रवाई की बजाय मुंह चुराता है.


मगर अब खुलेतौर पर हाफिज़ सईद को आतंकवादी मानने के बाद पाकिस्तान पर दबाव बढ़ सकता है कि वो इनपर कार्रवाई का घेरा मज़बूत करें.

First published: 21 April 2017, 15:22 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी