Home » इंटरनेशनल » Pak govt says no change in defense budget documents show 4.5 increase
 

क्या झूठ बोल रहा पाकिस्तान? रक्षा बजट को लेकर खुली पोल, सामने आया सच

कैच ब्यूरो | Updated on: 13 June 2019, 9:12 IST

एक बार फिर पाकिस्तान के सरकार का झूठ सामने आया. पाकिस्तान सरकार द्वारा दावा किया गया था कि रक्षा बजट में किसी प्रकार की बढ़ोतरी नहीं की गई है, लेकिन यह दावे झूठे साबित हो गए. पाकिस्तान सरकार के दावे की पोल सरकारी दस्तावेज ने खोल दी, जिसमें स्पष्ट तौर पर लिखा है कि पाकिस्तान ने अपने रक्षा बजट में 4.5 फीसदी की बढ़ोतरी दिखाई गई है.

दरअसल, पाकिस्तान अगले वित्तिय वर्ष (2019-20) के लिए रक्षा बजट 1,15,25,350 लाख रुपये बिना बदले रखा गया है, लेकिन अगर हम पिछले साल की तुलना करें, तो रक्षा बजट में 4.5 फीसदी की मामूली बढ़ोतरी की गई है.

पाकिस्तान सरकार का चालू वित्त वर्ष में रक्षा बजट 1,10,03,340 लाख रुपये आवंटन किया गया था, लेकिन बाद में इसे बढ़ाकर 1,13,77,110 लाख रुपए कर दिया गया. इस बजट में 3.4 प्रतिशत की बढ़ोत्तरी हुई. इस हिसाब से पिछले आवंटन से 5,22,010 लाख रुपये की बढ़ोतरी हुई है, जो 4.5 प्रतिशत है.

पाकिस्तान के राजस्व राज्य मंत्री हम्माद अजहर ने अपने बजट भाषण में पूरा ब्योरा नहीं दिया. उन्होंने को बजट भाषण में सिर्फ इतना ही कि रक्षा बजट बिना बदलाव के 1,15,25,350 लाख रुपये रहेगा. उन्होंने दावा किया कि पाकिस्तान के रक्षा बजट में किसी तरह की बढ़ोतरी नहीं की गई, लेकिन इन ब्योरों से साफ जाहिर होता है कि पाकिस्तान के रक्षा बजट में 4.5 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है.

मालूम हो कि पिछले सप्ताह पाकिस्तान के सेना प्रमुख जनरल कमर बाजवा ने घोषणा की थी, "सशस्त्र बल के लिए वार्षिक रक्षा बजट में नियमित वृद्धि की जा रही है." इसी के साथ प्रधानमंत्री इमरान खान ने भी कहा था, "सेना आर्थिक संकट की इस घड़ी में अपने खर्च को कम करने पर सहमत हो गई है." उन्होंने कहा था, "रक्षा बजट में सीमित वृद्धि ही की जाएगी. इसके बावजूद सरकार के राजस्व मंत्री ने झूठा बयान दे डाला."

यौन शोषण के खिलाफ यहां उठाया गया बड़ा कदम, अपराधी को बनाया जाएगा नपुंसक

First published: 13 June 2019, 9:12 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी