Home » इंटरनेशनल » Pakistan acknowledges area where the three were hanged as ‘Bhagat Singh Chowk
 

पाकिस्तान : जहां भगत सिंह को दी गई फांसी, उस जगह का नाम रखा जाये 'शहीद भगत सिंह चौक

कैच ब्यूरो | Updated on: 24 March 2019, 12:20 IST

भगत सिंह, राजगुरु और सुखदेव के अनुयायियों के एक समूह ने शनिवार को पाकिस्तान के लाहौर शहर के शादमान चौक पर उनकी 88वीं शहादत वर्षगांठ पर तीनों को श्रद्धांजलि अर्पित की. तीनों क्रांतिकारियों को उस स्थान पर श्रद्धांजलि दी गई जहां कभी जेल का एक हिस्सा था और अंग्रेजों ने उन्हें 23 मार्च, 1931 को फांसी पर लटका दिया था. इस मौके पर भगत सिंह ज़िंदा है ’और शहीद भगत सिंह तेरी सोचे तों, पेहरा दियांगे ठोक के’ के रूप में लाहौर निवासियों ने महिलाओं और बच्चों के साथ हाथों में मोमबत्तियों के साथ श्रशहीदों को श्रद्धांजलि दी.

यह पहल भगत सिंह मेमोरियल फाउंडेशन द्वारा की गई थी, जो कि इम्तियाज राशिद कुरैशी द्वारा संचालित है, जिन्होंने शादमान चौक का नाम बदलकर 'शहीद भगत सिंह चौक' करने के लिए लाहौर उच्च न्यायालय में याचिका दायर की थी. "ऐ क़ैदी आज़म ... तेरा एहसान है एहसान ... नक्शा बदलकर रख दिया तुने इस मुल्क का ... के साथ छात्रों और युवा समूहों ने 'इंकलाब जिंदाबाद', और 'भगत सिंह तेरा मिशन अधूरा, हम सब मिलकर करेंगे पूरा'' जैसे नारे लगाए.

 

लाहौर के जिला प्रशासन ने पहली बार अपने आधिकारिक दस्तावेज में शादमान चौक को "भगत सिंह चौक" के रूप में स्वीकार किया और भगत सिंह और उनके साथियों को महान क्रांतिकारी नेता के रूप में संबोधित किया, कुरैशी ने दावा किया कि लाहौर हाई कोर्ट ने पिछले साल सितंबर में लाहौर के मेयर को चौक का नाम बदलने का फैसला करने का निर्देश दिया था. अब तक, लाहौर प्रशासन द्वारा इस संबंध में कोई आधिकारिक अधिसूचना या आदेश जारी नहीं किए गए हैं.

शनिवार को आयोजित होने वाले श्रद्धांजलि समारोह के लिए सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम की अनुमति देते हुए अतिरिक्त डिप्टी कमिश्नर (मुख्यालय) लाहौर ने लिखा . “मुझे यह अनुरोध करने के लिए निर्देशित किया गया है कि महान क्रांतिकारी नेताओं भगत सिंह और उनके साथियों राज गुरु और सुखदेव की 88 वीं वर्षगांठ के लिए शनिवार 23 मार्च, 2019 को भगत सिंह चौक (शादमान चौक), लाहौर में किसी भी अप्रिय घटना से बचने के लिए उचित सुरक्षा व्यवस्था सुनिश्चित की जा सकती है. द

First published: 24 March 2019, 12:13 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी