Home » इंटरनेशनल » Pakistan Chotu gang surrendered, 24 policemen released
 

पाकिस्तान: 'छोटू गैंग' का आतंक खत्म, 24 पुलिसवाले रिहा

कैच ब्यूरो | Updated on: 21 April 2016, 12:58 IST

पाकिस्तानी सेना की नाक में दम करने वाले छोटू गैंग ने लंबी लड़ाई के बाद हथियार डाल दिए. छोटू गैंग ने बंधक बनाए गए 24 पुलिसकर्मियों को भी छोड़ दिया है. 

पुलिस के मुताबिक कराची से करीब चार सौ किलोमीटर दूर राजनपुर में छोटू गैंग के साथियों ने आत्मसमर्पण कर दिया. पुलिसवालों को बुधवार को रिहा करा लिया गया है.

छोटू का दायां हाथ कार्रवाई में ढेर


पुलिस का कहना है कि छोटू गैंग के खिलाफ कार्रवाई में सात डाकू मारे गए हैं, जिसमें छोटू का दायां हाथ पहलवान उर्फ पल्लू भी शामिल है. हालांकि गिरोह के सरगना ग़ुलाम रसूल उर्फ़ छोटू के सरेंडर की अभी पुष्टि नहीं हो सकी है. 

पढ़े:पाकिस्तान के 35 अल्पसंख्यक हिंदू बिना वीजा के पकड़े गये

पाकिस्तानी सेना करीब 3 हफ़्तों से छोटू गैंग के ख़िलाफ़ जर्ब-ए-अहान नामक अभियान चला रही थी. इसमें 1500 सैनिक, तीन सौ रेंजर्स और 16 सौ पुलिसकर्मी शामिल थे. अभियान में 3 हेलीकॉप्टरों की भी मदद ली गई थी.

सात पुलिसकर्मियों की हत्या का आरोप


छोटू गैंग पर 24 पुलिसवालों को अगवा करने के अलावा सात पुलिसकर्मियों की हत्या का आरोप है. छोटू के खिलाफ अपहरण, कत्ल, डकैती, हथियार छीनने और वसूली करने के केस दर्ज हैं. उस पर 20 लाख रुपये का इनाम है.

पढ़े:पाकिस्तान में छोटू गैंग का कोहराम, सेना बुलाई गई

राजनपुर में सिंधु नदी में 2010 में आई बाढ़ से बने एक टापू पर छोटू गैंग ने ठिकाना बना रखा था. मंगलवार से ही सेना ने गिरोह के सदस्यों और परिवार को घेर रखा था. अंतिम कार्रवाई की चेतावनी देते हुए सेना ने गैंग से समर्पण को कहा था.

एक पुलिस अधिकारी के मुताबिक छोटू और उसके साथी ने 24 पुलिसकर्मियों की रिहाई के बदले खुद, परिवार के सदस्यों और वफादारों को सुरक्षित दुबई जाने देने का सुरक्षित रास्ता देने की शर्त रखी थी.

First published: 21 April 2016, 12:58 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी