Home » इंटरनेशनल » Pakistan Claim On India's Kohinoor
 

अब पाकिस्तान ने भी ठोंका 'कोहिनूर' पर अपना दावा

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 February 2017, 1:51 IST

पाकिस्तान की लाहौर हाईकोर्ट ने उस याचिका को स्वीकार कर लिया है, जिसमें ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ द्वितीय से 'कोहिनूर' को वापस लाने के लिए सरकार को निर्देश देने की मांग की गई है.

'कोहिनूर' हीरे पर भारत भी अपना दावा करता है और उसे ब्रिटेन से भारत वापस लाने के लिए वर्षों से प्रयास कर रहा है.

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक लाहौर हाईकोर्ट के जज खालिद महमूद खान ने सोमवार को याचिका पर कोर्ट के रजिस्ट्रार ऑफिस की आपत्तियों को खारिज कर दिया कि जिसमें महारानी एलिजाबेथ द्वितीय और पाकिस्तान में ब्रिटेन के उच्चायुक्त को मामले में प्रतिवादी बनाया गया है.

इस मामले में वकील जावेद इकबाल की तरफ से लाहौर हाईकोर्ट में दायर की गई याचिका में 105 कैरेट के 'कोहीनूर' हीरे पर पाकिस्तान के द्वारा दावा किया गया है.

कोर्ट ने इकबाल के दावे को पुख्ता मानते हुए रजिस्ट्रार कार्यालय को निर्देश दिया कि इस याचिका की सुनवाई के लिए किसी उपयुक्त पीठ के सामने भेजा जाए.

गौरतलब है कि पिछले साल दिसम्बर में रजिस्ट्रार के कार्यालय ने इस मामले में यह कहते हुए याचिका को खारिज कर दिया था कि यह विचारणीय नहीं है और कहा कि पाकिस्तान की अदालत के पास ब्रिटेन की महारानी के खिलाफ मामले की सुनवाई करने का अधिकार नहीं है.

इस याचिका में तर्क दिया गया था कि अंग्रेजों ने 'जबरन और दबाव में' महाराजा रणजीत सिंह के पौत्र दिलीप सिंह से इस हीरे को चुरा कर अपने देश भेज दिया था.

इसके बाद साल 1953 में महारानी एलिजाबेथ द्वितीय की ताजपोशी के समय 'कोहीनूर' हीरे को उनके ताज में जोड़ा गया, जबकि महारानी एलिजाबेथ का 'कोहिनूर' पर कोई अधिकार नहीं है.'

First published: 10 February 2016, 10:54 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी