Home » इंटरनेशनल » Pakistan disappeared Masood Azhar before the FATF meeting
 

नया दांव: पाकिस्तान ने FATF की बैठक से पहले मसूद अजहर को किया गायब

कैच ब्यूरो | Updated on: 17 February 2020, 10:12 IST

पाकिस्तान पर फाइनैंशल ऐक्शन टास्क फोर्स (FATF) की बैठक में ब्लैक लिस्ट में जाने का खतरा मंडरा रहा है. खबरों की मायने तो पाकिस्तान ने इससे बचने के लिए एक नया दांव खेला है. पाकिस्‍तान ने एफएटीएफ को सूचित किया है कि मसूद अजहर और उसका परिवार लापता है. ख़बरों के मुताबिक आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद (जेएम) प्रमुख मसूद अजहर को वित्तीय कार्रवाई टास्क फोर्स (एफएटीएफ) के प्रतिबंधों से बचने के लिए पाकिस्तान ने गायब किया है.

फरवरी 2019 में पुलवामा हमले के बाद अजहर को प्रतिबंधित कर दिया गया था. एक रिपोर्ट के अनुसार एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा "वह वर्तमान में रावलपिंडी और इस्लामाबाद सुरक्षित-घरों में रहता है और तालिबान और हक्कानी नेटवर्क के अधिकारियों से मिल रहा है." संगठन अपने परिवार के सदस्यों की प्रत्यक्ष कमान के तहत धन जुटा रहा है और संचालन कर रहा है. पाकिस्तान पर आतंकवाद पर आतंकवाद पर लगाम लगाने का जबरदस्त दबाव है. कई अंतर्राष्ट्रीय मंचों पर पाकिस्तान की किरकिरी हो चुकी है. पाकिस्तान को इसपर लगाम लगाने के लिए वक्त दिया गया था. 

एफएटीएफ समीक्षा बैठक (फरवरी 16-21) से पहले लश्कर-ए-तैयबा के प्रमुख हाफिज सईद को पाकिस्तान में 11 साल की सजा सुनाई गई थी. मुत्तहिदा कौमी मूवमेंट्स (MQM) के संस्थापक अल्ताफ हुसैन ने कहा कि जैश-ए-मोहम्मद (JeM) प्रमुख और संयुक्त राष्ट्र के नामित आतंकवादी मसूद अजहर के पाकिस्तानी सेना की तथाकथित हिरासत से गायब होने की खबरें राज्य की नीति पर कई सवाल उठाती हैं.

एक ट्वीट में हुसैन ने कहा कि अजहर का परिवार पेरिस से पहले गायब हो गया है. इस सप्ताह पेरिस स्थित FATF मूल्यांकन करेगा कि क्या पाकिस्तान ने पर्याप्त कदम उठाए हैं और आतंकी वित्तपोषण से निपटने के लिए अपनी कार्य योजना को लागू किया है.

 बगदाद में अमेरिकी दूतावास पर रॉकेट से हमला, किसी के हताहत होने की सूचना नहीं

First published: 17 February 2020, 10:12 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी