Home » इंटरनेशनल » pakistan economy become worst potato now at sixty rupees kg
 

कंगाल पाकिस्तान को आलू खाने के भी पड़े लाले, कर्ज चुकाने के लिए बेचनी पड़ रही अपनी संपत्ति

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 April 2019, 12:10 IST

पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था का काफी बुरा हाल हो गया है. कर्ज के बोझ के तले पाकिस्तान दिवालिया होने के कगार पर आ पहुंचा है. पाकिस्तान सरकार को अपने पहले साल में 19 अरब रपए का कर्ज चुकाना है. आलम ये है कि पाकिस्तान को अपने कर्ज के सूद के तौर पर प्रतिदिन 6 अरब रुपए चुकाने पड़ रहे हैं. वहीं, चालू घाटा बढ़कर 9 अरब तक पहुंच गया है.

इसी के चलते पाकिस्तान सरकार द्वारा सरकारी संपत्तियों को बेचने का फैसला लिया गया है. काफी कोशिश करने के बाद भी अब तक पाकिस्तान अपने मित्र देशों से और आईएमएफ, विश्व बैंक से लिए गए कर्ज को चुकाने में असफल रही है. इसी बीच चीन ने पाकिस्तान को अब दिवालिया घोषित होने के कगार से बचाने के लिए 2 अरब डॉलर कर्ज देने की घोषणा की है.

पाकिस्तान के लिए कर्ज बना बोझ

पाकिस्तान के 2009 से 2015 तक के करीब 245 अरब रुपए कर्ज माफ करवाए गए हैं. इसके अलावा पाकिस्तान का पिछले 25 सालों में 988 से ज्यादा कंपनियों और कर्जदारों ने 4 खरब 30 अरब 6 करोड़ रुपए का कर्ज माफ किया है. बता दें कि कर्ज माफ कराने वालों में राजनीतिक और बिजनसमैन भी शामिल हैं.

पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था इतने ज्यादा लड़खड़ा रहे हैं कि यहां के लोगों को सब्जियां खाने तक के लाले पड़ रहे हैं. पाकिस्तान में इन दियों सब्जियों के भाव आसमान छू रहे हैं. आलम ये है कि यहां आलू जैसी सब्जि के भाव भी 60 रुपए के पार है. वहीं, टमाटर का हाल तो पहले से ही बेहाल था.

पाकिस्तान के PM इमरान खान क्यों चाहते हैं भारत में फिर से प्रधानमंत्री बनें नरेंद्र मोदी ?

पाकिस्तान में फिलहाल टमाटर के भाव 100 रुपए के आस-पास है. इसके साथ ही पेट्रोल की बात करें, तो ये भारत से कहीं ज्यादा कीमत पाकिस्तान में पेट्रोल-डीजल के हैं. हकीकत ये है कि पाकिस्तान सरकार अपनी जनता को आर्थिक सुरक्षा दे ही नहीं पा रही. पाकिस्तान में आज भी 4 करोड़ से अधिक लोग बेरोजगार हैं.

सामने आई ब्लैक होल की पहली तस्वीर, जानिए क्या है और कैसा दिखता है ब्लैक होल

First published: 11 April 2019, 12:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी