Home » इंटरनेशनल » Pakistan Election Results 2018: pakistan tehreek e insaf chief Imran Khan addresses the media in Islamabad
 

इमरान खान- मैं भारत से बातचीत करने वाला पाकिस्तानी, कश्मीर पर भी वार्ता को तैयार

कैच ब्यूरो | Updated on: 26 July 2018, 19:01 IST
(file photo )

पाकिस्तान के नए प्रधानमंत्री बनने जा रहे पाकिस्तान तहरीक ए इंसाफ के प्रमुख इमरान खान ने गुरुवार को पहली बार मीडिया को संबोधित किया. इस दौरान उन्होंने कहा कि उनकी कोशिश भारत से संबंध सुधारने  की रहेगी.  उन्होंने कहा कि दोनों देशों का फायदा मधुर रिश्ते रखने में ही है. 

पहली बार पाक जनता को संबोधित करते हुए इमरान खान ने कहा कि  वह पाकिस्तान को इंसानियत भरा मुल्क बनाएंगे. वह कमजोर लोगों के लिए काम करेंगे. उन्होंने कहा कि 'अल्लाह ने मुझे पाकिस्तान की सेवा का करने का मौका दिया है. अल्लाह ने मेरी प्रार्थना को सुन लिया. मैंने पाकिस्तान के लिए  22 साल संघर्ष किया.

उन्होंने कहा कि मैं बिना कुछ किए जीवन गुजार सकता था. लेकिन मैं राजनीति में आया ताकि देश के भ्रष्टाचार को मिटा सकूं. जब मैं पल बढ़ रहा था, तब मैंने देश की कई परिस्थियों को देखा. जिसने मुझे राजनीति में आने के लिए मजबूर किया. 

इमरान खान ने कहा कि मैं पाकिस्तान से किया अपना वादा निभाऊंगा, मैं भरोसा दिलाता हूं कि मैंने जो वादे किए उनको पूरा करूंगा. कई आतंकवादी घटना होने के बाद भी चुनाव सफलता पूर्वक संपन्न हुए. पाकिस्तान की जनता ने लोकतंत्र को मजबूत किया. मेरी कोशिश इंसानियत से भरा पाकिस्तान बनाने की है. मैं कमजोर लोगों के लिए काम करूंगा. 

विदेश नीति को लेकर इमरान खान ने कहा कि हमारी विदेश नीति कमजोर है, जिसको मजबूत करना मेरी प्राथमिकता है. हमें अपने पड़ोसियों से रिश्ते बेहतर करने होंगे. हमको अपने पड़ोसी चीन से सीखने की जरूरत है.  चीन ने अपने करीब 70 करोड़ लोगों को गुरबत की जिंदगी से बाहर निकाला और उन्हें एक बेहतर जिंदगी दी.  इसके साथ ही उन्होंने अफगानिस्तान, ईरान, सऊदी अरब. भारत से रिश्ते सुधारने की बात कही. 

इमरान ने कहा, 'हिंदुस्तान में मुझे बॉलीवुड का विलेन दिखाया गया. मैं हिंदुस्तान को बेहद अच्छी तरह से जानता हूं.' मैं चाहता हूं कि भारत के साथ रिश्ते बेहतरों हो. अगर हमकों अपने उपमहाद्वीप को गरीबी से मुक्त करना है, तो भारत और पाकिस्तान के बीच संबंध अच्छे रखने होंगे. 

उन्होंने कहा कि हम कश्मीर मुद्दे का हल करना चाहते हैं. कश्मीर लंबे समय से पीड़ित है. अगर भारत चाहे तो दोनों मिलकर कश्मीर की समस्या को हल किया जा सकता है. इसके लिए दोनों देश एक मेज पर बैठकर बातचीत कर सकते हैं. 

ये भी पढ़ें- पाकिस्तान चुनाव: इमरान खान होंगे नए कप्तान, आसानी से हासिल कर लेेंगे बहुमत

First published: 26 July 2018, 17:58 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी