Home » इंटरनेशनल » Pakistan order to indian diplomat Surjeet singh live his country
 

जासूसी विवाद: अब पाकिस्तान ने भारतीय राजनयिक सुरजीत सिंह को देश छोड़ने को कहा

कैच ब्यूरो | Updated on: 28 October 2016, 17:05 IST
(एजेंसी)

पाकिस्तानी उच्चायोग के एक अधिकारी पर जासूसी का आरोप लगने के बाद उन्हें 48 घंटे के भीतर देश छोड़ने का आदेश दिया गया था. मगर भारत की इस कार्रवाई पर भड़के पाकिस्तान ने भी जवाबी हमला बोलते हुए भारतीय उच्चायोग के एक अधिकारी सुरजीत सिंह को सस्पेंड कर दिया है. 

पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय के मुताबिक विदेश सचिव एजाज अहमद चौधरी ने भारतीय उच्चायुक्त गौतम बम्बावाले को तलब करके पाकिस्तान सरकार के इस फ़ैसले की जानकारी दी.

पाक विदेश सचिव ने आरोप लगाया कि सुरजीत सिंह राजनयिक शिष्टाचार से हटकर आपत्तिजनक गतिविधियों में लिप्त हैं, जो उनके मुताबिक विएना संधि का उल्लंघन है. एजाज़ अहमद चौधरी ने कहा कि सुरजीत सिंह अपने परिवार के साथ 29 अक्टूबर तक पाकिस्तान छोड़ दें.

गौरतलब है कि इससे पहले भारत ने पाकिस्तानी उच्चायोग के एक अधिकारी महमूद अख्तर को जासूसी के लिए रक्षा दस्तावेजों के साथ पकड़े जाने के बाद उसे 48 घंटे के अंदर देश छोड़ने के लिये कहा था.

इस मामले में भारतीय विदेश सचिव एस जयशंकर ने गुरुवार की सुबह नई दिल्ली स्थित साउथ ब्लॉक में पाकिस्तानी उच्चायुक्त अब्दुल बासित को तलब भी किया था.

इस दौरान जयशंकर ने बासित को अख्तर के दिल्ली पुलिस द्वारा पकड़े जाने की जानकारी दी और उन्हें इस मामले में बरामद साक्ष्य भी दिखाए.

इसके बाद विदेस सचिव ने महमूद अख्तर को अवांछित घोषित करने के फैसले की जानकारी दी और उसे परिवार के साथ 29 अक्टूबर तक यानी 48 घंटे के अंदर देश छोड़ने का आदेश दिया था.  

भारत ने कहा प्रतिक्रिया में कार्रवाई

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता विकास स्वरूप ने इस मामले में प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कहा कि हमें पाकिस्तानी सरकार के फैसले पर अफसोस है जिसमें पाकिस्तान स्थित भारतीय उच्चायोग में काम करने वाले सुरजीत सिंह को पाकिस्तान छोड़ने के लिए कहा गया है.

विकास स्वरूप ने इस दौरान कहा, "पाकिस्तान की तरफ से कोई न्यायोचित जानकारी नहीं दी गई है. पाकिस्तान ने पूर्ण रूप से आधारहीन आरोप लगाए हैं कि सुरजीत सिंह की गतिविधि राजनयिक शर्तों के अनुरूप नहीं है." 

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा कि गुरुवार को पाकिस्तानी उच्चायोग के अधिकारी महबूब अख्तर को हिरासत में लेने के बाद यह एक प्रतिक्रियात्मक कार्रवाई है. पाकिस्तान सीमा पार आतंकवाद से लेकर भारत विरोधी गतिविधियों को हमेशा नकारता रहा है.

First published: 28 October 2016, 17:05 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी