Home » इंटरनेशनल » Pakistan: 100 terrorists killed after Lal Shahbaz Qalandar attack
 

कलंदर के दर पर हमले के बाद आतंकियों के सफाए में जुटी पाक सेना, 100 आतंकी ढेर

कैच ब्यूरो | Updated on: 18 February 2017, 11:15 IST
(ट्विटर)

लाल शाहबाज़ कलंदर की दरगाह पर हमले के बाद पाकिस्तानी सेना ने आतंकियों के खिलाफ ऑपरेशन तेज कर दिया है. पाक सेना की मीडिया इकाई आईएसपीआर के मुताबिक पंजाब प्रांत समेत देश भर में सेना की कार्रवाई में 100 आतंकियों को मार गिराया गया है.

पाकिस्तान के सिंध प्रांत के सहवान में स्थित सूफ़ी संत लाल शाहबाज़ क़लंदर की दरगाह पर गुरुवार को आत्मघाती हमले में 88 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई थी.  इसके एक दिन के बाद सेना ने आतंकियों के खिलाफ बड़ा अभियान चलाते हुए  100 से ज़्यादा आतंकियों को ढेर कर दिया है. पाकिस्तानी सेना के आईएसपीआर के मुताबिक पाक-अफ़ग़ान सीमा पर आतंकियों के ठिकानों को निशाना बनाया गया. 

आईएसपीआर के मुताबिक शुक्रवार रात से बड़ी तादाद में संदिग्धों को गिरफ्तार किया गया है.  सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा का कहना है कि दुश्मनों के एजेंडे को कामयाब नहीं होने दिया जाएगा, चाहे कोई भी कीमत चुकानी पड़े.

आतंकियों के खात्मे के लिए पाकिस्तान में रात भर अभियान चलाया गया. सेना का कहना है कि आतंकियों को नेस्तनाबूद करने तक अभियान जारी रहेगा. लाल शाहबाज़ क़लंदर की दरगाह पर हुआ आतंकी हमला हाल के दिनों में सबसे बड़ा हमला है. 

सिंध प्रांत में 4 दर्जन आतंकी ढेर

पैरामिलिट्री सिंध रेंजर्स का कहना है कि सिंध प्रांत में रातभर चले अभियान में चार दर्जन से ज्यादा आतंकियों को ढेर कर दिया गया. जबकि खैबर पख्तूनख्वा प्रांत की पुलिस ने तीन दर्जन आतंकियों को मारने का दावा किया है. कबायली क्षेत्र खुर्रम, बलोचिस्तान और पंजाब प्रांत के सरगोधा में भी कई आतंकियों को मार गिराने में कामयाबी मिली है.

पाकिस्तान में लोगों ने शुक्रवार को दरगाह पर आतंकी हमले के खिलाफ प्रदर्शन किया. प्रदर्शनकारियों ने इस दौरान कई गाड़ियों में तोड़फोड़ की. इस दौरान लोगों ने दरगाह की सुरक्षा व्यवस्था में ढिलाई का आरोप लगाया. लोगों का कहना है कि दरगाह में सिर्फ़ एक स्कैनर लगा है और वह भी खराब है.  

इस बीच पाकिस्तानी सेना ने अफगानिस्तान को वहां छुपे 76 आतंकियों की सूची सौंपी है. सैन्य प्रवक्ता मेजर जनरल आसिफ गफूर ने बताया कि अफगान दूतावास के अधिकारी को बुलाकर यह सूची सौंपी गई है. 

First published: 18 February 2017, 11:15 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी