Home » इंटरनेशनल » Pakistan people Party Nominates Hindu Woman From Thar To Contest As Senator krishna kumari can be the first hindu senater in pakistan
 

पाकिस्तानी सियासत में दिखेगा ये हिन्दू चेहरा

कैच ब्यूरो | Updated on: 7 February 2018, 10:27 IST
(Representable Image )

पाकिस्तान में ऐसा पहला मौका होगा जब एक हिन्दू सियासत का एहम हिस्सा बनेगी. पाकिस्तान में पहली किसी हिन्दू महिला को पहली बार राजनीति में एंट्री मिली है. सिंध प्रांत की थार सीट से सीनेट का चुनाव लड़ने के लिए कृष्णा कुमारी को पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (पीपीपी) की ओर से टिकट दिया गया है.

कृष्णा अगर चुनाव जीतती हैं तो इस मुस्लिम बहुल देश में वह पहली हिंदू महिला सीनेटर होंगी. मीडिया रिपोर्ट की मानें तो सिंध में पूर्व प्रधानमंत्री बेनजीर भुट्टो के बेटे बिलावल अली जरदारी के नेतृत्व वाली पीपीपी बहुमत में है. ऐसे में कृष्णा के जीतने की संभावना बहुत अधिक है.

कौन हैं कृष्णा
कृष्णा का जन्म 1979 में सिंध के नगरपारकर जिले के एक दूरदराज गांव में हुआ था. कृष्णा का संबंध स्वतंत्रता सेनानी रूपलो कोलही के परिवार से है.

ये भी पढ़ें. JIO का नया धमाका, 299 रुपये में पाए जमकर इंटरनेट और बहुत कुछ

कृष्‍णा एक सामाजिक कार्यकर्ता हैं. कृष्णा अपने भाई के साथ एक सामाजिक कार्यकर्ता के रूप में पीपीपी से जुड़ी थीं. बाद में उनके भाई को यूनियन काउंसिल बेरानो का चेयरमैन चुना गया.

 

ब्रिटिश उपनिवेशों की सेना ने 1857 में जब सिंध पर हमला किया था, तब उसके खिलाफ रूपलो ने भी युद्ध में हिस्सा लिया था. 16 साल की उम्र में कृष्णा की शादी लालचंद से हुई थी. उस समय वह नौवीं कक्षा में पढ़ रही थीं. हालांकि शादी के बाद भी उन्होंने शिक्षा जारी रखी और 2013 में सिंध यूनिवर्सिटी से समाजशास्त्र में मास्टर डिग्री हासिल की.

पीपीपी ने पहले भी दी हैं महिला राजनेता

पीपीपी पाकिस्‍तान की एक ऐसी पार्टी है जिसने बेनजीर भुट्टो समेत इस देश को कई महिला राजनेता दी हैं. देश की पहली महिला प्रधानमंत्री बेनजीर भुट्टो, पहली महिला विदेश मंत्री हिना रब्बानी खार और नेशनल असेंबली की पहली महिला स्पीकर फहमिदा मिर्जा इसी पार्टी से थीं. कृष्णा अगर चुनाव जीतीं तो उनका नाम भी पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी की महिला नेताओं में शुमार हो जायेगा. साथ ही कृष्णा पाकिस्तानी सियासत की पहली हिन्दू शख्सियत होंगी.

First published: 7 February 2018, 10:27 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी