Home » इंटरनेशनल » Pakistan PM announce they will adopt China model to Poverty elimination
 

कर्ज में डूबे पाकिस्तान ने गरीबी हटाने के लिए ली इस देश की शरण, PM इमरान ने किया ऐलान

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 November 2018, 12:55 IST

पाकिस्तान के नए प्रधानमंत्री इमरान खान इस समय मुल्क को गरीबी से बाहर निकालने में लगे हुए हैं. इसके लिए वो हर कोशिश कर रहे हैं. हाल ही में पाक पीएम इमरान खान चीन और आईएमएफ से भी आर्थिक मदद की गुहार लगा चुके हैं. अंतर्राष्ट्रीय संबंधों के जानकारों की मानें तो इस समय भारत का विरोधी चीन पाकिस्तान के बुरे समय में पाक के नए प्रधानमंत्री इमरान खान के समर्थन में आ गया है. पाकिस्तान की आर्थिक हालत के चलते सउदी अरब पहले ही पाकिस्तान को छह अरब डॉलर की मदद की घोषणा की थी. ऐसा कहा जा रहा है कि चीन भी पाकिस्तान को इतनी ही राशि देने को तैयार है लेकिन इस बात की अभी तक कोई पुष्टि नहीं हुई है.

हाल ही में पाकिस्तान के पूर्वी शहर लाहौर में एक आश्रय गृह के उद्धाटन के दौरान प्रधानमंत्री इमरान ने कहा कि चीन ने बीते तीन दशकों में 70 करोड़ से ज्यादा लोगों को गरीबी की श्रेणी से बाहर निकालने का कार्य किया है. यह दुनिया के इतिहास में एक अद्वितीय उपलब्धि है और पाकिस्तान इससे सबक लेगा.

पाकिस्तान को मिला हिंदुस्तान के इस विरोधी देश का साथ, दिवाली पर पाक को मिला बड़ा तोहफा

समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के मुताबिक, इमरान खान इस महीने की शुरुआत में चीन के आधिकारिक दौरे पर गए थे. इमरान खान ने कहा कि सरकार पहले ही चीनी पक्ष से पाकिस्तान में गरीबी घटाने के लिए एक व्यापक रणनीति बनाने व निवेश को लेकर वार्ता शुरू कर चुकी है. इमरान खान ने कहा, "मेरी सरकार जल्द ही गरीब लोगों को गरीबी से बाहर निकालने के लिए देश के इतिहास में पहली बार एक गरीबी उन्मूलन पैकेज की शुरुआत करेगी." उन्होंने कहा कि इस उद्देश्य के लिए समन्वित प्रयास किए जाएंगे.

गौरतलब है कि पाकिस्तान की आर्थिक मदद के बारे में चीन के विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता हुआ चुनयिंग ने इस बारे में कहा , ''चीन अपनी क्षमता के हिसाब से मदद करेगा. हालांकि उन्होंने राशि का जिक्र नहीं किया.''

उन्होंने कहा, ''पाकिस्तान चीन का सदाबहार दोस्त है. हमारे संबंध काफी अच्छे हैं और बेहद ऊंचे स्तर पर हैं. हमने पाकिस्तान को अपनी क्षमता के हिसाब से सर्वेश्रष्ठ मदद की पेशकश की है. भविष्य में भी हम पाकिस्तान की जरूरतों और आपसी अनुबंध के आधार पर लोगों के बेहतर जीवनस्तर के लिए आर्थिक मदद देते रहेंगे.''

First published: 11 November 2018, 12:55 IST
 
अगली कहानी