Home » इंटरनेशनल » Pakistan PM Imran Khan Address UN said will massacre in Kashmir
 

UN के मंच से इमरान खान ने दी दुनिया को धमकी, बोले- नहीं मिला न्याय, तो मुस्लमान उठा लेंगे हथियार

कैच ब्यूरो | Updated on: 28 September 2019, 14:46 IST

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने संयुक्त राष्ट्र महासभा के 74वें सत्र को संबोधित किया. इमरान खान का यह भाषण 45 मिनट से भी अधिक लंबा था. बता दें, महासभा में सभी देशों को 15 मिनट दिए गए थे. वहीं अपने भाषण में इमरान खान ने ग्लोबल वार्मिंग, इस्लामोफोबिया और जम्मू कश्मीर जैसे मुद्दे को छुआ. इस दौरान इमरान खान ने साफ तौर पर विश्व को धमकी देते हुए कहा कि अगर मुस्लमानों को न्याय नहीं मिला तो वो हथियार उठा लेंगे.

इमरान खान ने इस्लामोफोबिया का मुद्दा उठाते हुए कहा कि दुनिया में अरबों मुस्लिम हैं और हर कोने मे रहते हैं।.वे कई देशों में अल्पसंख्यक है. 9/11 के बाद इस्लामोफोबिया बढ़ा है. इससे अलगाव हुआ है. हिजाब पहनना भी एक मुद्दा बन गया है जैसे कि यह हथियार है. यह कैसे हो रहा है? यह कैसे शुरू हुआ? 9/11 के बाद, क्योंकि कुछ लोगों ने आतंकवाद को इस्लाम से जन्मा बताया.'


उन्होंने अपने भाषण में कट्टर इस्लाम का भी जिक्र किया. उन्होंने कहा,'ऐसा कुछ नहीं है, केवल एक इस्लाम है. न्यू यॉर्क में कैसे पता लगेगा कि कौन सा मुसलमान अच्छा है और कौन बुरा है. आतंकवाद का कोई धर्म नहीं है. ऐसे शब्दों का प्रयोग करना बहुत दुख देने वाले हैं और मुस्लिम आहत हैं. यूरोप के देशों में मुस्लिम समुदाय हासिए पर है और यही रैडिकलाइजेशन की वजह है. सीरिया में ऐसा ही हुआ.'

इमरान खान ने अपने भाषण में कश्मीर मुद्दे का भी जिक्र किया. अपने भाषण में उन्होंने कहा,'5 अगस्त को भारत ने यूएन के खिलाफ जाकर कश्मीर पर फैसला किया और शिमला समझौते का भी उल्लंघन किया. उन्होंने आगे कहा कि जैसे ही कश्मीर से कर्फ्यू हटेगा तो वहां खून भी होली खेली होगी. उन्होंने कहा,'मोदी को क्या लगता है कि कश्मीर के लोग इसको शांति से स्वीकार कर लेंगे. कश्मीर में लोगों को कत्ल हुआ है. दुनिया ने कुछ नहीं किया क्योंकि भारत एक बड़ा बाजार है. मैं फिर कहना चाहता हूं, देखें, क्या होने जा रहा है. कर्फ्यू हटते ही खून की होली होगी.'

अपने भाषण में उन्होेंने आगे कहा कि,'इस्लामिक टेररिजम का मंत्र फिर दोहराया जाएगा. सभी इसी पर सभी बात करेंगे कोई मानवाधिकार की बात नहीं करेगा. जैसे ही कर्फ्यू हटेगा जो भी होगा उसका आरोप पाकिस्तान पर आएगा. इसके बाद पुलवामा जैसी घटना होगी और हम पर फिर हमला होगा. क्या उन्हें कश्मीरी नहीं नजर आते हैं. मैं 18 करोड़ लोगों की बात कर रहा हूं. हम पर हमेशा आरोप लगाए जाएंगे. 1.3 अरब मुस्लिम जो यह सब देख रहे हैं. यह कश्मीरी हिंदुओं के साथ नहीं हो रहा है केवल मुसलमानों को निशाना बनाया जा रहा है. लोग 1.3 मुस्लिमों मे से कुछ हथियार उठा लेंगे.' 

First published: 27 September 2019, 22:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी