Home » इंटरनेशनल » Pakistan removed from the list of 1800 terrorists before FATF assessment meeting
 

FATF की आंकलन बैठक से पहले पाकिस्तान ने लिस्ट से हटाए 1800 आतंकियों के नाम

कैच ब्यूरो | Updated on: 21 April 2020, 16:09 IST

पाकिस्तान ने टेररिस्ट वॉच लिस्ट से हजारों नामों को हटा दिया है. FATF की आंकलन बैठक से पहले पाकिस्तान ने निगरानी सूची इन नामों को हटाया है. एक अमेरिकी रिपोर्ट के अनुसार इन नामों में मुंबई में 2008 में हुए आतंकवादी हमलों के मास्टरमाइंड और लश्कर-ए-तैयबा के कमांडर ज़की-उर-रहमान लखवी का नाम भी शामिल है. इस लिस्ट से कुल 1,800 आतंकवादियों के नामों को हटाया गया है.

वॉल स्ट्रीट जनरल की रिपोर्ट के अनुसार पाकिस्तान का कहना है कि यह ग्लोबल एंटी मनी लॉन्ड्रिंग वॉचडॉग के आकलन से पहले अपने दायित्वों को पूरा करने का प्रयास है. रिपोर्ट के अनुसार इस सूची में 2018 में लगभग 7,600 नाम थे, जो पिछले 18 महीनों में 3,800 से कम हो गए हैं. 


न्यूयॉर्क स्थित नियामक प्रौद्योगिकी कंपनी Castellum.AI द्वारा एकत्र आंकड़ों के अनुसार पाकिस्तान द्वारा मार्च की शुरुआत से लगभग 1,800 नाम हटा दिए गए हैं. इन नामों को हटाने के पीछे कोई स्पष्टीकरण नहीं दिया गया है. फाइनेंशियल एक्शन टास्क फोर्स एक अंतरराष्ट्रीय संगठन जो वैश्विक मानकों को तय करता है और देशों की एंटी-मनी लॉन्डरंग और आतंकवाद-रोधी-वित्तपोषण नीतियों की निगरानी करता है.

इस मामले में जून में पाकिस्तान का मूल्यांकन होना है. पाकिस्तान जून 2018 से एफएटीएफ की निगरानी में है. यदि वह इसमें सफल नहीं रहता है तो एफएटीएफ इसे प्रतिबंधित कर सकता है, उसे ग्रे लिस्ट में डाल सकता है. एफएटीएफ के प्रवक्ता ने पाकिस्तान की आतंकवादी निगरानी सूची से नाम हटाने पर टिप्पणी करने से इनकार कर दिया.

इससे पहले चीन की अध्यक्षता वाली FATF ने पाकिस्तान को चेतावनी दी थी कि आपको जो समय दिया गया था वह ख़त्म हो गया है और यदि अब वह आतंकवाद के खिलाफ कार्रवाई नहीं करते हैं तो इसके गंभीर वित्तीय परिणाम होंगे. FATF का कहना है कि यदि जून 2020 तक पाकिस्तान स्थिति को नहीं संभालता है तो वह ब्लैकलिस्ट का सामना कर सकता है. 16 फरवरी से 21 फरवरी तक पेरिस में आयोजित एफएटीएफ बैठक मे पाकिस्तान की विफलता पर गंभीर चिंता व्यक्त की गई थी.

उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन की हालत नाजुक, सर्जरी के बाद ब्रेन डेड होने की अटकलें

First published: 21 April 2020, 14:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी