Home » इंटरनेशनल » Khawaja Asif: Indio-Pak war can start at anytime due to ongoing tension along LoC
 

पाकिस्तान के रक्षा मंत्री बोले- 'भारत और पाक में कभी भी छिड़ सकती है जंग'

कैच ब्यूरो | Updated on: 24 November 2016, 10:41 IST
(पीटीआई)

बुधवार को नियंत्रण रेखा पर भारतीय सेना ने पाकिस्तान पर भारी मोर्टार हमले किए. जबरदस्त फायरिंग में पाकिस्तान के एक कैप्टन समेत तीन सैनिक मारे गए हैं. जवाबी कार्रवाई में पाकिस्तान को भारी नुकसान हुआ है.

माछिल में आतंकियों और पाकिस्तानी बॉर्डर एक्शन टीम (बैट) के घात लगाकर हमले में तीन भारतीय जवानों के शहीद होने के बाद भारत ने बुधवार को एलओसी पर पाकिस्तानी चौकियों को निशाना बनाया. एक भारतीय सैनिक का शव क्षत-विक्षत कर दिया गया था.

इस बीच पाकिस्तान के रक्षा मंत्री ख्वाजा आसिफ ने कहा है कि दोनों देशों के बीच कभी भी युद्ध शुरू हो सकता है. ख्वाजा का कहना है कि भारत ने अघोषित रूप से पाकिस्तान के साथ जंग छेड़ दी है. पाक रक्षा मंत्री ने धमकी भरे लहजे में कहा कि पूरे क्षेत्र में कभी भी युद्ध की नौबत आ सकती है.

सर्जिकल स्ट्राइक के बाद पहली बार DGMO बातचीत 

एलओसी पर भारी तनाव के बीच पाकिस्तान के डीजीएमओ मेजर जनरल साहिर शमशाद मिर्जा ने अपने भारतीय समकक्ष लेफ्टिनेंट जनरल रणबीर सिंह को फोन कर सीमा के हालात पर बात की. सर्जिकल स्ट्राइक के बाद ये पहला मौका है जब पाकिस्तानी डीजीएमओ ने बात की है.

पाकिस्तान ने डीजीएमओ स्तरीय वार्ता का प्रस्ताव दिया है. पाक डीजीएमओ ने भारत की फायरिंग में अपने नागरिकों और सैनिकों के हताहत होने का मुद्दा उठाया. जवाब में भारत ने कहा कि कि ये मंगलवार को माछिल में पाकिस्तान की कायराना हरकत का जवाब था.

बुधवार शाम फायरिंग बंद

इस बीच बुधवार शाम 6 बजे तक एलओसी के पास सभी इलाकों में फायरिंग रुक गई. जम्मू कश्मीर में पुंछ जिले के बालाकोट इलाके के अलावा भिंबर, कृष्णा घाटी और नौशेरा सेक्टर में बुधवार सुबह 9 बजे से गोलाबारी हो रही थी.

पाकिस्तान ने नियंत्रण रेखा पर सीजफायर का उल्लंघन करते हुए मोर्टार शेल दागे. भारत ने जवाबी कार्रवाई में 120 एमएम के भारी मोर्टार शेल का इस्तेमाल किया. इस दौरान तीन पाक सैनिक मारे गए.

भारत के हमले में 3 पाक जवान ढेर

पाकिस्तानी सेना ने एलओसी पर भारतीय सेना की गोलीबारी में मारे गए तीन सैनिकों की बात कबूल की है. पाकिस्तानी सेना की आईएसपीआर विंग ने कहा कि भारतीय फायरिंग में कैप्टन तैमूर अली, हवलदार मुश्ताक हुसैन और लांस नायक गुलाम हुसैन शहीद हुए हैं.

पाकिस्तानी डीजीएमओ मेजर जनरल साहिर शमशाद मिर्जा ने भारतीय समकक्ष से बातचीत में नागरिक बस को कथित रूप से निशाना बनाए जाने पर विरोध दर्ज कराया. इसमें कहा गया, "दूधनियाल सेक्टर में हुए इस हमले में 9 नागरिकों की मौत हुई है और नौ लोग गंभीर रूप से घायल हैं. यहां तक कि घायलों को लेने आई एंबुलेंस पर भी फायरिंग हुई."

पाक बोला- जेनेवा समझौते का उल्लंघन

पाक सेना के बयान में कहा गया, "निर्दोष नागरिकों को निशाना बनाना मानवता के खिलाफ अपराध है. यह गैर प्रोफेशनल और अनैतिक भी है. यह जेनेवा समझौते और 2003 में डीजीएमओ की आपसी समझ का गंभीर उल्लंघन है."

बयान के मुताबिक, "पाकिस्तानी डीजीएमओ ने अपने समकक्ष को संदेश दे दिया है कि पाकिस्तान अपने तय किए वक्त और जगह पर इसका जवाब देने का अधिकार रखता है. पाकिस्तानी एलओसी और पश्चिमी सीमा पर शांति चाहता है. हम अपने निर्दोष नागरिकों का जीवन और संपत्ति बचाने के लिए हर जरूरी कदम उठाएंगे."

First published: 24 November 2016, 10:41 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी