Home » इंटरनेशनल » Pakistan SC imposes Re 1 per litre charge on mineral water
 

मिनिरल वाटर पर लगेगा 1 रुपये प्रति लीटर टैक्स, यहां अदालत ने सुनाया फैसला

कैच ब्यूरो | Updated on: 12 January 2019, 15:08 IST

पाकिस्तान के सुप्रीम कोर्ट ने शनिवार को मिनरल वाटर और पेय पदार्थ बेचने वाली कंपनियों द्वारा निकाले गए सतह के पानी के हर लीटर के लिए 1 रुपये का लेवी (सेस) लगाने का आदेश दिया है. अखबार के मुताबिक बिना किसी शुल्क के भूमिगत स्रोतों से निकाले गए पानी को कंपनियों द्वारा बेचने के साथ ही मानव उपभोग के लिए उसी की गुणवत्ता और फिटनेस के बारे में फैसला सुनाया गया.

इससे एकत्र किए गए राजस्व का उपयोग डायमर-भाषा और मोहमंद बांध के निर्माण के लिए किया जाएगा. रिपोर्ट में कहा गया है कि मुख्य न्यायाधीश साकिब निसार द्वारा लिखित इस फैसले में कहा गया है कि प्रांतीय सरकारों के साथ-साथ इस्लामाबाद कैपिटल टेरिटरी एडमिनिस्ट्रेशन को भी पानी से एकत्र की गई राशि प्राप्त करने के लिए अलग और अलग अकाउंट बनाये जाएं.

 

इसके बाद राशि को शीर्ष अदालत द्वारा पहले से बनाए गए बांधों के कोष में जमा किया जाएगा. शीर्ष अदालत ने यह स्पष्ट किया कि एकत्र किए गए धन को किसी भी परिस्थिति में बांधों और पानी से संबंधित गतिविधियों के निर्माण के अलावा किसी अन्य उद्देश्य से नहीं भेजा जाएगा.

हालांकि बांधों के निर्माण के बाद शीर्ष अदालत के आदेश के अधीन प्रांतीय सरकारें, खातों में एकत्रित धन का उपयोग करने के लिए स्वतंत्रत होंगी. शीर्ष अदालत ने प्रोफेसर मोहम्मद अहसान सिद्दीकी की अध्यक्षता में एक विशेष समिति का गठन किया, जिसमें प्रांतीय प्रमुख सचिवों, संघीय और प्रांतीय पर्यावरण संरक्षण एजेंसियों (ईपीए) के निदेशक जनरलों और अन्य लोगों के प्रतिनिधि शामिल थे.

ये भी पढ़ें : सपा-बसपा ने कांग्रेस को गठबंधन से किया बेदखल, मायावती ने कहा- BJP जैसी है कांग्रेस

First published: 12 January 2019, 15:08 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी