Home » इंटरनेशनल » Pakistan seeks for fresh loan from china
 

चीन के कर्ज फंसता जा रहा है पाकिस्तान, फिर मांगे इतने अरब डॉलर

कैच ब्यूरो | Updated on: 28 May 2018, 16:56 IST

पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था की स्थिति दुनियाभर में किसी से छिपी नहीं है. ऐसे में देश को भयंकर आर्थिक संकट से निकालने के लिए पाकिस्तान एक बार फिर अपने 'ग्रेट फ्रेंड' चीन की तरफ उम्मीद लगाये है. पाकिस्तानी सरकार के सूत्रों के मुताबिक इस्लामाबाद ने चीन से 1-2 अरब डॉलर यानी करीब 68-135 अरब रुपयों के बीच कर्ज मांगा है. चीन से इतने बड़े कर्ज की डिमांड, अमेरिका से पाकिस्तान को मदद न मिलने का असर के रुप में भी देखा जा सकता है.ट

ये भी पढ़ें-शर्मनाक: देश के लिए सभी जंग लड़ने वाले जनरल के अंतिम संस्कार में नहीं पहुंचा मोदी सरकार का कोई मंत्री

'डॉन न्यूज' के मुताबिक, चीन द्वारा पाकिस्तान को दिया गया कर्ज इस साल जून तक 5 अरब डॉलर तक पहुंचने वाला है. तो वहीं चीन से कर्ज लेकर इस्लामाबाद अपनी कम हो रहे विदेश मुद्रा भंडार को बचाने की कोशिश करेगा.

बीते साल मई में पाकिस्तान के पास 16.4 अरब डॉलर विदेशी मुद्रा भंडार था जो बीते हफ्ते कम होकर 10.3 अरब डॉलर तक पहुंच गया है. बता दें कि यह लोन ऐसे समय में मांगा गया है जब इसी साल अप्रैल में चीन के कमर्शल बैंकों ने पाकिस्तान सरकार को 1 अरब डॉलर का कर्ज दिया था.

पाकिस्तान गवर्नर तारीक बाजवा ने फाइनेंशियल टाइम्स को बताया था कि अप्रैल में पाकिस्तान के केंद्रीय बैंक ने चीन के व्यावसायिक बैंकों से 1 बिलियन डॉलर का कर्ज लिया था. पाकिस्तान के केंद्रीय बैंक के प्रवक्ता ने रॉयटर्स से इसकी पुष्टि भी की थी. ऐसे में पाकिस्तान एक बार फिर 1-2 बिलियन डॉलर का जो लोन लेने जा रहा है, जिससे कुल कर्ज में अप्रत्याशित वृद्धि हो जाएगा. बता दें कि पाकिस्तानी रुपए की कीमत एक डॉलर की तुलना में करीब 119 तक पहुंच गई है.

First published: 28 May 2018, 16:56 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी