Home » इंटरनेशनल » Pakistan: Sikh man turban desecrated, 6 booked under blasphemy law
 

पाकिस्तान: सिख की पगड़ी का अपमान, 6 लोगों पर ईशनिंदा का केस दर्ज

कैच ब्यूरो | Updated on: 2 May 2016, 23:00 IST

पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में एक सिख व्यक्ति की पगड़ी का अपमान करने के मामले में 6 लोगों पर ईशनिंदा का मामला दर्ज किया गया है.

साहीवाल जिले के चिचावतनी पुलिस ने शिकायतकर्ता महिंद्र पाल सिंह की पगड़ी के अपमान के इल्जाम में एक ट्रांसपोर्ट कंपनी के पांच कर्मचारी और मालिक के खिलाफ शिकायत मिलने पर ईशनिंदा कानून के तहत कार्रवाई की है.

बस की स्पीड को लेकर विवाद

पीड़ित महिंद्र पाल सिंह ने बताया कि वह कोहिस्तान-फैसल मूवर्स कंपनी की एक बस से फैसलाबाद से मुल्तान जा रहे थे तभी बस दिजकोट के पास खराब हो गई.

सिंह ने बताया कि ड्राइवर ने किसी तरह बस को फिर से चलाया, लेकिन उसकी गति बेहद धीमी थी. दिजकोट से चिचावतनी पहुंचने में बस को पांच घंटे से ज्यादा का समय लगा.

पढ़ें:ईशनिंदा के नाम पर सज़ा-ए-मौत कितना जायज़?

सिंह ने कहा कि टर्मिनल पहुंचने पर उन्होंने और कुछ सहयात्रियों ने ट्रांसपोर्ट कंपनी के कर्मचारियों से बस की धीमी गति को लेकर शिकायत की और आगे जाने के लिए दूसरी बस की मांग की. 

इस बात पर दोनों पक्षों में झगड़ा होने लगा. ट्रांसपोर्ट कंपनी के पांच कर्मचारीयों ने मालिक के साथ मिलकर महिंदर को पीटना शुरू कर दिया. महिंदर ने आरोप लगाया कि झगड़े के दौरान राशिद गुज्जर नाम के एक शख्स ने उनकी पगड़ी जमीन पर फेंक दी.

ईशनिंदा के तहत मामला दर्ज

सिंह ने कहा कि पगड़ी को सिख धर्म में पवित्र माना जाता है और इसे जमीन पर फेंकना अपमान माना जाता है.

कुछ यात्रियों के मुताबिक, सिंह ने पुलिस को बताया कि यह अपवित्रीकरण का मामला है और वह पाकिस्तानी नागरिक हैं, इसलिए हमलावरों पर ईशनिंदा कानून के तहत मामला दर्ज किया जाना चाहिए.

पढ़ें:ईशनिंदा कानून की समीक्षा को तैयार पाकिस्तान

पाचों आरोपियों के नाम बकीर अली, राशिद गुर्जर, फैज आलम, शकील और नवल है. इनके खिलाफ पाकिस्तान पीनल कोड के सेक्शन 295, 148 और 506 के तहत मामला दर्ज किया गया है. टर्मिनल मालिक हाजी रियासत फरार है, जिसे पकड़ने के लिए पुलिस सर्च ऑपरेशन चला रही है.

कुछ दिन पहले ही पाकिस्तान की खैबर पख्तूनख्वाह असेंबली के सिख मेंबर सोरन सिंह की हत्या कर दी गई थीं. बुनेर डिस्ट्रिक्ट के पीर बाबा में सोरन पर घर लौटते वक्त गोलियां चलाई गईं थी. 

सोरन सिंह पाकिस्तान के वरिष्ठ नेता और खैबर पख्तूनख्वाह में अल्पसंख्यक मामलों के विशेष सहायक थे.

First published: 2 May 2016, 23:00 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी