Home » इंटरनेशनल » Pakistan suspends polio drive after security threats to workers
 

पाकिस्तान का पोलियो अभियान हुआ बंद, मुश्किल में 40 लाख बच्चों की ज़िंदगी

कैच ब्यूरो | Updated on: 27 April 2019, 15:13 IST

पाकिस्तान सरकार ने देश के विभिन्न हिस्सों में पोलियो श्रमिकों पर हमलों की बढ़ती घटनाओं के बाद पोलियो विरोधी अभियान और अभियान के बाद के मूल्यांकन को निलंबित कर दिया है. पांच साल से कम उम्र के 40 लाख बच्चों को पोलियो रोधी दवा पिलाने का देशव्यापी अभियान सोमवार और शुक्रवार को शुरू किया गया था, जिसके बाद अभियान का मूल्यांकन होना था. हालांकि, 260,000 पोलियो श्रमिकों को शामिल करने वाला अभियान रिपोर्ट के बाद मुश्किल में पड़ गया कि पेशावर के कुछ क्षेत्रों में पोलियो रोधी टीका लगाए जाने के बाद कई बच्चे बीमार हो गए.

इसके बाद कई पोलियों कार्यकर्ताओं के मारे जाने की खबर आयी थी. जिसमे बलूचिस्तान में चमन क्षेत्र में एक महिला पोलियो कार्यकर्ता की मौत की खबर शामिल है. पोलियो उन्मूलन पर पीएम इमरान खान के प्रवक्ता बाबर बिन अत्ता ने स्पष्ट किया कि टीका सुरक्षित था और माता-पिता को डराने के लिए पोलियो विरोधी तत्व सोशल मीडिया पर अफवाह फैला रहे थे. पोलियो के लिए नेशनल इमरजेंसी ऑपरेशन सेंटर (EOC) ने एक पत्र जारी कर सभी प्रांतों को अभियान को रोकने और आगे होने वाले नुकसान को रोकने के लिए कहा है.

 

ईओसी द्वारा जारी पत्र में कहा गया है कि फ्रंट लाइन पोलियो श्रमिकों के लिए अनिश्चित और खतरे की स्थिति पैदा हो गई है और हमें कार्यक्रम को और अधिक नुकसान से बचाने की जरूरत है. पाकिस्तान उन तीन देशों में से एक है जहां पोलियो अभी भी मौजूद है. इस अभियान का उद्देश्य सभी चार प्रांतों के साथ-साथ पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर और गिलगित-बाल्टिस्तान में बच्चों को पोलियोरोधी दवा उपलब्ध कराना था. पाकिस्तान के इतिहास में पहली बार सरकार ने अभियान के बाद के मूल्यांकन को निलंबित किया है, जिसे लॉट क्वालिटी एश्योरेंस सैंपलिंग (LQAS) कहा जाता है.

डॉन की रिपोर्ट के मुताबिक सभी प्रांतों को जारी एक पत्र में ईओसी ने पोलियो श्रमिकों पर बढ़ते हमलों के बारे में आशंका व्यक्त की है. पत्र में कहा गया है, “राष्ट्रीय ईओसी द्वारा यह निर्णय लिया गया है कि देश में कहीं भी कोई भी पोस्ट कैंपेन मूल्यांकन (LQAS) आयोजित नहीं किया जाएगा. दिसंबर 2012 से टीकाकरण टीमों के हमलों ने 68 लोगों की जान ले ली है. इस महीने की शुरुआत में, एक पोलियो निगरानी टीम के सदस्य को सोमवार को पाक-अफगान सीमा के पास एक गांव में एक अभियान के दौरान मौखिक विवाद के बाद एक व्यक्ति ने गोली मार दी थी.

ट्रंप की धमकी- पाकिस्तानी नागरिकों को अमेरिका में घुसने पर लगा सकते हैं रोक 

First published: 27 April 2019, 15:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी