Home » इंटरनेशनल » Pakistan wants explanations from isi former chief asad durrani on his book the spy chronicles
 

'ISI की पसंद बने मोदी, उनका पीएम बने रहना पाकिस्तान के लिए है फायदेमंद'

कैच ब्यूरो | Updated on: 26 May 2018, 17:21 IST

पाकिस्तान की सीक्रेट सर्विस एजेंसी आईएसआई के पूर्व डीजी असद दुर्रानी ने पूर्व रॉ चीफ ए. एस.दुलत के साथ मिलकर एक किताब लिखी है. इस किताब में पीएम मोदी को भारत के पीएम तौैर पर पहली पसंद बताया गया है.

किताब में यह भी उल्लेख है कि मोदी का पीएम बने रहना पाकिस्तान के लिए फायदेमंद है. 'द स्पाई क्रॉनिकल्स' नामक यह किताब भारत-पाकिस्तान के रिश्तों पर छपी है. इसमें कश्मीर समस्या, करगिल युद्ध, ओसामा बिन लादेन का मारा जाना, कुलभूषण जाधव की गिरफ्तारी, हाफिज सईद, बुरहान वाणी समेत कई मुद्दे शामिल हैं.

 

इसके बाद किताब को लेकर पाकिस्तानी सेना ने अपना कड़ा विरोध जताते हुए है, दुर्रानी को उनके सामने पेश होने तक को कह दिया. पाकिस्तानी सेना के प्रवक्ता मेजर जनरल आसिफ गफ्फूर ने ट्विटर कर लिखा, 'लेफ्टिनेंट जनरल असद दुर्रानी (रिटायर्ड) को 28 मई 2018 को पाकिस्तानी सेना के हेडक्वॉर्टर में बुलाया गया है.

बता दें कि उनसे 'स्पाई क्रॉनिकल' किताब के उनके रोल के बारे में पूछा जाएगा. उनके योगदान को मिलिट्री कोड ऑफ कंडक्ट के उल्लंघन के तौर पर देखा गया है. यह कोड कार्यरत रहने के साथ-साथ रिटायर हो चुके लोगों पर भी लागू है.'

गौरतलब है कि 'द स्पाई क्रॉनिकल्स रॉ, नामक इस किताब को लिखा है, दो स्पाईमास्टर्स और पत्रकार आदित्य सिन्हा ने. इस किताब में यह भी दावा किया गया है कि आईएसआई नरेंद्र मोदी के प्रधानमंत्री बनने से 'खुश' था.

ये भी पढ़ें-धूप में बाहर निकलने से डरते हैं इस गांव के लोग, वजह जानकर रह जाएंगे हैरान

रिपोर्टस के मुताबिक, किताब में दुर्रानी ने लिखा है कि पाकिस्तान की सीक्रेट सर्विस एजेंसी आईएसआई की पहली पसंद मोदी ही हैं. इस किताब में दुर्रानी ने इसका कारण भी लिखा है. दुर्रानी ने लिखा है कि इसके पीछे मोदी की 'कट्टरपंथी' छवि है. साथ हीं उन्होनें यह भी लिखा है कि आईएसआई आस लगाए बैठा है कि मोदी कोई ऐसा कदम उठाएंगे जिससे भारत की सेक्युलर छवि को नुकसान पहुंचेगा और उसका पाकिस्तान को वैश्विक स्तर पर फायदा होगा.

First published: 26 May 2018, 17:21 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी