Home » इंटरनेशनल » Pakistan: We have not insufficient evidence on Kulbhushan Jadhav
 

पाकिस्तान: कुलभूषण जाधव के ख़िलाफ़ पक्के सबूत नहीं

कैच ब्यूरो | Updated on: 8 December 2016, 16:01 IST
(एजेंसी)

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के विदेश मामलों के सलाहकार सरताज अजीज ने स्वीकार किया कि पाकिस्तान में पकड़े गए कथित भारतीय जासूस कुलभूषण जाधव को लेकर पाक सरकार के पास ‘पक्के सबूत’ नहीं हैं.

पाकिस्तान की सीनेट के सामने सरताज अजीज ने कहा कि जाधव से जुड़े डोजियर में सिर्फ इकबालिया बयान शामिल है. पाकिस्तान के समाचार चैनल ‘जियो टीवी’ के मुताबिक अज़ीज़ ने कहा कि सरकार के पास जाधव के मामले में कोई निर्णायक सबूत नहीं है.

उन्होंने कहा कि डोजियर में जो बाते हैं वे पर्याप्त नहीं हैं. अब संबंधित प्राधिकारों पर है कि वे इस एजेंट को लेकर अधिक सामग्री मुहैया कराएं.

वहीं पाक एजेंसियों का दावा है कि ईरान से पाकिस्तान में दाखिल होने वाले जाधव को बलूचिस्तान से गिरफ्तार किया गया और वह पाकिस्तान के भीतर ‘विध्वंसक गतिविधियों’ की योजना बना रहा था.

पाकिस्तानी सेना ने भी जाधव के ‘इकबालिया बयान वाला वीडियो’ जारी कर दावा किया था कि जाधव भारतीय नौसेना से जुड़ा हुआ है.

वीडियो आने के बाद भारत ने स्वीकार किया है कि जाधव भारतीय नौसेना से सेवानिवृत्त है, लेकिन इस आरोप से इनकार किया है कि वह सरकार के संपर्क में था.

बलोचिस्तान से हुई थी गिरफ्तारी

इसी साल पाकिस्तान के बलोचिस्तान इलाके से पूर्व भारतीय नौसैनिक कुलभूषण जाधव की गिरफ्तारी के बाद भारत-पाकिस्तान के रिश्तों में सनातन तल्खी थोड़ी और बढ़ गई थी. पाकिस्तान ने 25 मार्च को कुलभूषण जाधव को 'रॉ अधिकारी' बताते हुए गिरफ्तार किया था.

पाकिस्तान का दावा है कि जाधव भारतीय जासूस और रॉ के एजेंट हैं. कुछ साल पहले एक अन्य भारतीय राजदूत माधुरी गुप्ता पर भी इसी तरह के आरोप लगे थे. लेकिन तब मामला उल्टा था.

इस्लामाबाद स्थिति भारतीय उच्चायोग में नियुक्त राजनयिक माधुरी गुप्ता पर आरोप था कि वो पाकिस्तान के लिए भारत के खिलाफ जासूसी करती थीं. जाधव के मामले में पाकिस्तान की ओर से यह दावा किया जा रहा था कि कुलभूषण जाधव राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल का साथी है.

पाकिस्तान के मुताबिक दक्षिण बलोचिस्तान से गिरफ्तार कथित रॉ जासूस कुलभूषण जाधव पाकिस्तान में बड़े आतंकी हमले को प्रायोजित कराता था. इस मामले में पाकिस्तान की सेना ने जाधव का कथित इकबालिया वीडियो भी जारी किया था, जिसे भारत ने खारिज कर दिया था. वीडियो में जाधव ने कथित तौर पर कहा था कि वह भारतीय नौसेना का कर्मचारी है.

First published: 8 December 2016, 16:01 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी